#themodernpoets Instagram Photos & Videos

themodernpoets - 1.1k posts

Hashtag Popularity

2.2
average comments
48.7
average likes

ये जो सुकून भरी मुस्कान दिख रही है न तुमको ये तब आती है जब तुम जी रहे होते हो ख़ुद को।
या मिल चुके होते हो ख़ुद से
कहते भी हैं ना आत्मा का परमात्मा से मिलन सबसे सुखद होता है, यही वो मिलन है तुम्हारी आत्मा का तुम्हारे भीतर बसे परमात्मा से

PC @harry_dew

#कथाकार #मोहित #mohitdwivedi #themodernpoets #storytelling #storyteller #tmpian

ये जो सुकून भरी मुस्कान दिख रही है न तुमको ये तब आती है जब तुम जी रहे होते हो ख़ुद को।
या मिल चुके होते हो ख़ुद से 
कहते भी हैं ना आत्मा का परमात्मा से मिलन सबसे सुखद होता है, यही वो मिलन है तुम्हारी आत्मा का तुम्हारे भीतर बसे परमात्मा से

PC @harry_dew

#कथाकार #मोहित #mohitdwivedi #themodernpoets #storytelling #storyteller #tmpian
6 1 17 November, 2019

अपने पूरे होशो - हवास में
लिख रही हूँ आज मैं
वसीयत अपनी !

मेरे मरने के बाद
खंगालना मेरा कमरा
टटोलना हर एक चीज़
घर भर में बिन ताले के
मेरा सामान बिखरा पड़ा है

दे देना मेरे ख़्वाब,
उन तमाम स्त्रियों को ;
जो किचन से बेडरूम
तक सिमट गयी अपनी दुनिया में
गुम गयी हैं -
वे भूल चुकी हैं सालों पहले
ख़्वाब देखना !

बाँट देना मेरे ठहाके -
वृद्धाश्रम के उन बूढों में
जिनके बच्चे -
अमेरिका के जगमगाते शहरों में
लापता हो गए हैं टेबल पर मेरे देखना -
कुछ रंग पड़े होंगे ;
इस रंग से रंग देना
उस बेवा की साडी
जिसके आदमी के खून से
बॉर्डर रंगा हुआ है
तिरंगे में लिपट कर
वो कल शाम सो गया है

शोखी मेरी - मस्ती मेरी ;
भर देना उनकी रग - रग में -
झुके हुए हैं कंधे जिनके,
बस्तों के भारी बोझ से !

आंसू मेरे दे देना,
तमाम शायरों को -
हर बूँद से ,
होगी ग़ज़ल पैदा
मेरा वादा है !

मेरी गहरी नींद और भूख
दे देना 'अंबानियों' को
'मित्तलों' को -
न चैन से सो पाते हैं बेचारे
न चैन से खा पाते हैं !

मेरा मान , मेरी आबरू ;
उस वेश्या के नाम है -
बेचती है जिस्म जो ;
बेटी को पढ़ाने के लिए !

इस देश के
एक-एक युवक को
पकड़ के -
लगा देना 'इंजेक्शन'
मेरे आक्रोश का-
पड़ेगी इसकी ज़रुरत,
क्रान्ति के दिन उन्हें !

दीवानगी मेरी
हिस्से में है
उस सूफ़ी के
निकला है जो -
सब छोड़ कर ,
ख़ुदा की तलाश में !

बस !

बाक़ी बचे -
मेरी ईर्ष्या,
मेरा लालच ,
मेरा क्रोध ,
मेरे झूठ ,
मेरा स्वार्थ -
तो ऐसा करना
उन्हें मेरे संग ही जला देना !

Baabusha Kohli <3
#hindipoetry #hindi #shayari #poetry #hindiquotes #urdupoetry #love #hindishayari #lovequotes #urdu #hindipoem #writersofinstagram #shayar #shayri #hindikavita #poetrycommunity #mohabbat #hindiwriters #hindiwriting #shayarilover #ishq #hindiwriter #shayaris #writer #rekhta #hindishayri #quotes #urdushayari #themodernpoets #tmp

अपने पूरे होशो - हवास में
लिख रही हूँ आज मैं
वसीयत अपनी !

मेरे मरने के बाद
खंगालना मेरा कमरा
टटोलना हर एक चीज़
घर भर में बिन ताले के
मेरा सामान बिखरा पड़ा है

दे देना मेरे ख़्वाब,
उन तमाम स्त्रियों को ;
जो किचन से बेडरूम
तक सिमट गयी अपनी दुनिया में
गुम गयी हैं -
वे भूल चुकी हैं सालों पहले
ख़्वाब देखना !

बाँट देना मेरे ठहाके -
वृद्धाश्रम के उन बूढों में
जिनके बच्चे -
अमेरिका के जगमगाते शहरों में
लापता हो गए हैं टेबल पर मेरे देखना -
कुछ रंग पड़े होंगे ;
इस रंग से रंग देना
उस बेवा की साडी
जिसके आदमी के खून से
बॉर्डर रंगा हुआ है
तिरंगे में लिपट कर
वो कल शाम सो गया है

शोखी मेरी - मस्ती मेरी ;
भर देना उनकी रग - रग में -
झुके हुए हैं कंधे जिनके,
बस्तों के भारी बोझ से !

आंसू मेरे दे देना,
तमाम शायरों को -
हर बूँद से ,
होगी ग़ज़ल पैदा
मेरा वादा है !

मेरी गहरी नींद और भूख
दे देना 'अंबानियों' को
'मित्तलों' को -
न चैन से सो पाते हैं बेचारे
न चैन से खा पाते हैं !

मेरा मान , मेरी आबरू ;
उस वेश्या के नाम है -
बेचती है जिस्म जो ;
बेटी को पढ़ाने के लिए !

इस देश के
एक-एक युवक को
पकड़ के -
लगा देना 'इंजेक्शन'
मेरे आक्रोश का-
पड़ेगी इसकी ज़रुरत,
क्रान्ति के दिन उन्हें !

दीवानगी मेरी
हिस्से में है
उस सूफ़ी के
निकला है जो -
सब छोड़ कर ,
ख़ुदा की तलाश में !

बस !

बाक़ी बचे -
मेरी ईर्ष्या,
मेरा लालच ,
मेरा क्रोध ,
मेरे झूठ ,
मेरा स्वार्थ -
तो ऐसा करना
उन्हें मेरे संग ही जला देना !

Baabusha Kohli <3 
#hindipoetry #hindi #shayari #poetry #hindiquotes #urdupoetry #love #hindishayari #lovequotes #urdu #hindipoem #writersofinstagram #shayar #shayri #hindikavita #poetrycommunity #mohabbat #hindiwriters #hindiwriting #shayarilover #ishq #hindiwriter #shayaris #writer #rekhta #hindishayri #quotes #urdushayari #themodernpoets #tmp
37 2 16 November, 2019

तुम्हारी तस्वीर,
जब बहुत क़रीब से देखता हूं ,
तो,
तुम्हारे सुर्ख़ गुलाबी होंठ
मुझे ठीक वैसे ही लगते हैं जैसे ?
पहाड़ियों के झरोखों से ताकता हुआ सूरज,
और ये आंखें,
इस कदर गहरी नजर आती हैं,
जैसे अमावस की रात हो ,
औऱ चांद छुपा हो बादलों में,
तुम्हारे बारे में जब बहुत सोचता हूं तो तुम..
मुझे ठीक वैसे ही लगती हो जैसे,
वेद की पुस्तकों पर ,
बनी होती है स्त्री एक घड़ा लिए हुए,
जिससे गिरता तो कुछ भी नहीं है
मगर... उसे,
अपने पास रखने वाले को ,
मिलता बहुत कुछ है। © आशुतोष प्रसिद्ध | TMP

#hindipoetry #hindi #shayari #poetry #hindiquotes #urdupoetry #love #hindishayari #lovequotes #urdu #hindipoem #writersofinstagram #shayar #shayri #hindikavita #poetrycommunity #mohabbat #hindiwriters #hindiwriting #shayarilover #ishq #hindiwriter #shayaris #writer #rekhta #hindishayri #quotes #urdushayari #themodernpoets #tmp

तुम्हारी तस्वीर,
जब बहुत क़रीब से देखता हूं ,
तो,
तुम्हारे सुर्ख़ गुलाबी होंठ
मुझे ठीक वैसे ही लगते हैं जैसे ?
पहाड़ियों के झरोखों से ताकता हुआ सूरज,
और ये आंखें,
इस कदर गहरी नजर आती हैं,
जैसे अमावस की रात हो ,
औऱ चांद छुपा हो बादलों में,
तुम्हारे बारे में जब बहुत सोचता हूं तो तुम..
मुझे ठीक वैसे ही लगती हो जैसे,
वेद की पुस्तकों पर ,
बनी होती है स्त्री एक घड़ा लिए हुए,
जिससे गिरता तो कुछ भी नहीं है
मगर... उसे,
अपने पास रखने वाले को ,
मिलता बहुत कुछ है। © आशुतोष प्रसिद्ध | TMP

#hindipoetry #hindi #shayari #poetry #hindiquotes #urdupoetry #love #hindishayari #lovequotes #urdu #hindipoem #writersofinstagram #shayar #shayri #hindikavita #poetrycommunity #mohabbat #hindiwriters #hindiwriting #shayarilover #ishq #hindiwriter #shayaris #writer #rekhta #hindishayri #quotes #urdushayari #themodernpoets #tmp
61 1 16 November, 2019

सन्नाटों के चंद चीथड़े,
जो यहाँ-वहाँ बिखरे थे
हमारे दरमियाँ, .
अब उनके रेशे उधड़ने लगे हैं।
.
ये बातें अब पहले जैसी नहीं हैं शायद,

वो पहचानी सी खामोशियाँ,
.
इन लफ़्ज़ों ने मिटा दी हैं शायद।

हम बदल गये हैं शायद.... . देवेंद्र शर्मा .

#literature #hindi #hindisahitya #poetrycommunity #poetsofinstagram #poems #hindipanktiyaan #kavita #rekhta #amarujala #amarujalakavya #hindikavita #themodernpoets #hindinama #sahityaaajtak19 #poemsindia #lekhak_vekhak #kitab

सन्नाटों के चंद चीथड़े,
जो यहाँ-वहाँ बिखरे थे
हमारे दरमियाँ, .
अब उनके रेशे उधड़ने लगे हैं।
.
ये बातें अब पहले जैसी नहीं हैं शायद,

वो पहचानी सी खामोशियाँ,
.
इन लफ़्ज़ों ने मिटा दी हैं शायद।

हम बदल गये हैं शायद.... .  देवेंद्र शर्मा .

#literature #hindi #hindisahitya #poetrycommunity #poetsofinstagram #poems #hindipanktiyaan #kavita #rekhta #amarujala #amarujalakavya #hindikavita #themodernpoets #hindinama #sahityaaajtak19 #poemsindia #lekhak_vekhak #kitab
72 2 15 November, 2019

हमने तरक्की कुछ ज़्यादा ही कर ली है
तितलियां शहर छोड़ कर जाने लगीं हैं ©हितैषी नेगी । TMP
#hindipoetry #hindipoetrylove #hindipoetryisnotdead #hindipoetrylovers #hindipoetrycommunity #hindipoetrywriter #hindipoetryslam #hindipoetrylover #hindipoetrys #hindipoetryf #hindipoetrychallenge #hindipoetryislove #hindipoetryforever #hindipoetry#hindipoetryculture #hindipoetryt #hindipoetrylovers💚 #hindipoetryofinstagram #hindipoetrycommunit #hindipoetrywriting #themodernpoets
#tmp

हमने तरक्की कुछ ज़्यादा ही  कर ली है
तितलियां शहर छोड़ कर जाने लगीं हैं ©हितैषी नेगी । TMP 
#hindipoetry #hindipoetrylove #hindipoetryisnotdead #hindipoetrylovers #hindipoetrycommunity #hindipoetrywriter #hindipoetryslam #hindipoetrylover #hindipoetrys #hindipoetryf #hindipoetrychallenge #hindipoetryislove #hindipoetryforever #hindipoetry❤ #hindipoetryculture #hindipoetryt #hindipoetrylovers💚 #hindipoetryofinstagram #hindipoetrycommunit #hindipoetrywriting #themodernpoets
#tmp
43 0 15 November, 2019

समस्त TMP परिवार कुंवर नारायण जी की पुण्यतिथि पर उन्हें नमन करता है
फ़ोन की घण्टी बजी
मैंने कहा — मैं नहीं हूँ
और करवट बदल कर सो गया। दरवाज़े की घण्टी बजी
मैंने कहा — मैं नहीं हूँ
और करवट बदल कर सो गया। अलार्म की घण्टी बजी
मैंने कहा — मैं नहीं हूँ
और करवट बदल कर सो गया। एक दिन
मौत की घण्टी बजी...
हड़बड़ा कर उठ बैठा —
मैं हूँ... मैं हूँ... मैं हूँ.. मौत ने कहा —
करवट बदल कर सो जाओ।
#hindipoetry #hindi #shayari #poetry #hindiquotes #urdupoetry #love #hindishayari #lovequotes #urdu #hindipoem #writersofinstagram #shayar #shayri #hindikavita #poetrycommunity #mohabbat #hindiwriters #hindiwriting #shayarilover #ishq #hindiwriter #shayaris #writer #rekhta #hindishayri #quotes #urdushayari #themodernpoets #tmp

समस्त TMP परिवार कुंवर नारायण जी की पुण्यतिथि पर उन्हें नमन करता है 
फ़ोन की घण्टी बजी
मैंने कहा — मैं नहीं हूँ
और करवट बदल कर सो गया। दरवाज़े की घण्टी बजी
मैंने कहा — मैं नहीं हूँ
और करवट बदल कर सो गया। अलार्म की घण्टी बजी
मैंने कहा — मैं नहीं हूँ
और करवट बदल कर सो गया। एक दिन
मौत की घण्टी बजी...
हड़बड़ा कर उठ बैठा —
मैं हूँ... मैं हूँ... मैं हूँ.. मौत ने कहा —
करवट बदल कर सो जाओ।
#hindipoetry #hindi #shayari #poetry #hindiquotes #urdupoetry #love #hindishayari #lovequotes #urdu #hindipoem #writersofinstagram #shayar #shayri #hindikavita #poetrycommunity #mohabbat #hindiwriters #hindiwriting #shayarilover #ishq #hindiwriter #shayaris #writer #rekhta #hindishayri #quotes #urdushayari #themodernpoets #tmp
33 1 15 November, 2019

छायावाद के तृतीय उत्थान के कवियों में महत्त्वपूर्ण स्थान रखनेवाले कवि आरसी प्रसाद सिंह जी की पुण्यतिथि पर समस्त TMP परिवार उन्हें नमन करता है
#writing #poetry #writer #writersofinstagram #love #quotes #writingcommunity #poem #poetrycommunity #poetsofinstagram #writers #poet #writerscommunity #poems #art #words #writersofig #reading #author #books #wordporn #instagram #bookstagram #amwriting #write #quoteoftheday #life #themodernpoets #tmp

छायावाद के तृतीय उत्थान के कवियों में महत्त्वपूर्ण स्थान रखनेवाले कवि आरसी प्रसाद सिंह जी की पुण्यतिथि पर समस्त TMP परिवार उन्हें नमन करता है 
#writing #poetry #writer #writersofinstagram #love #quotes #writingcommunity #poem #poetrycommunity #poetsofinstagram #writers #poet #writerscommunity #poems #art #words #writersofig #reading #author #books #wordporn #instagram #bookstagram #amwriting #write #quoteoftheday #life #themodernpoets #tmp
28 0 15 November, 2019

हिमगिरि के उत्तुंग शिखर पर,
बैठ शिला की शीतल छाँह
एक पुरुष, भीगे नयनों से
देख रहा था प्रलय प्रवाह.

कामायनी के चिंता सर्ग की ये शुरुआती पंक्तियां यह बताने के लिए पर्याप्त हैं कि एक रचनाकार के रूप में जयशंकर प्रसाद क्या थे. सूर्यकान्त त्रिपाठी 'निराला', सुमित्रा नंदन पंत और महादेवी वर्मा के साथ जयशंकर प्रसाद इस काव्य धारा के प्रतिनिधि कवि माने जाते हैं. छायावाद के प्रवर्तक, उन्नायक कवि के साथ-साथ वह प्रसिद्ध नाटककार, उपन्यासकार तथा कथाकार भी थे. प्रेम, सौन्दर्य, मानवीयता और अध्यात्म उनके रचनाकर्म का केंद्रबिंदु रहा. जयशंकर प्रसाद कवि के रूप में जितने शिखर पर थे एक इनसान के रूप में उससे भी उन्नत. वह बेहद सरल, मिलनसार, उदार प्रकृति एवं दानशील व्यक्ति थे. इस वजह से उनका सम्पूर्ण जीवन दु:खों में बीता. बेहद अमीरी में जन्म लेने के बावजूद पिता के मरते ही बहुत जल्दी ही वह कर्जदार हो गए. बावजूद इसके उनका मन पारिवारिक व्यवसाय में न रमा. बचपन से ही उनकी रूचि कविता में थी, जो समय के साथ आगे बढ़ती गई. कविता से कहानी, नाटक, निबंध और उपन्यास में भी उन्होंने दखल दिया.
जयशंकर प्रसाद की दानवीरता का आलम यह था कि वह पुरस्कार में मिलने वाली राशि भी स्वीकार न करते. लिहाजा अभाव और सम्मान के बीच द्वंद्व करते-करते साल 1937 में केवल 48 साल की उम्र में क्षयरोग के चलते उनकी मृत्यु हो गई.

सच तो यह है कि जयशंकर प्रसाद का रचनाकर्म इतना विशद है कि उन्हें किसी एक लेख में समेटना असंभव है. समस्त TMP परिवार जयशंकर प्रसाद जी की पुण्यतिथि पर उन्हें नमन करता है |

साभार: जय प्रकाश पाण्डेय

#poetry #love #poetrycommunity #writersofinstagram #poem #poet #poems #quotes #poetsofinstagram #writer #writing #art #lovequotes #wordporn #thoughts #quote #quoteoftheday #writersofig #words #shayari #life #writerscommunity #instagram #inspirationalquotes #poetryofinstagram #writers #wordsofwisdom #themodernpoets

हिमगिरि के उत्तुंग शिखर पर,
बैठ शिला की शीतल छाँह
एक पुरुष, भीगे नयनों से
देख रहा था प्रलय प्रवाह.

कामायनी के चिंता सर्ग की ये शुरुआती पंक्तियां यह बताने के लिए पर्याप्त हैं कि एक रचनाकार के रूप में जयशंकर प्रसाद क्या थे. सूर्यकान्त त्रिपाठी 'निराला', सुमित्रा नंदन पंत और महादेवी वर्मा के साथ जयशंकर प्रसाद इस काव्य धारा के प्रतिनिधि कवि माने जाते हैं. छायावाद के प्रवर्तक, उन्नायक कवि के साथ-साथ वह प्रसिद्ध नाटककार, उपन्यासकार तथा कथाकार भी थे. प्रेम, सौन्दर्य, मानवीयता और अध्यात्म उनके रचनाकर्म का केंद्रबिंदु रहा. जयशंकर प्रसाद कवि के रूप में जितने शिखर पर थे एक इनसान के रूप में उससे भी उन्नत. वह बेहद सरल, मिलनसार, उदार प्रकृति एवं दानशील व्यक्ति थे. इस वजह से उनका सम्पूर्ण जीवन दु:खों में बीता. बेहद अमीरी में जन्म लेने के बावजूद पिता के मरते ही बहुत जल्दी ही वह कर्जदार हो गए. बावजूद इसके उनका मन पारिवारिक व्यवसाय में न रमा. बचपन से ही उनकी रूचि कविता में थी, जो समय के साथ आगे बढ़ती गई. कविता से कहानी, नाटक, निबंध और उपन्यास में भी उन्होंने दखल दिया.
जयशंकर प्रसाद की दानवीरता का आलम यह था कि वह पुरस्कार में मिलने वाली राशि भी स्वीकार न करते. लिहाजा अभाव और सम्मान के बीच द्वंद्व करते-करते साल 1937 में केवल 48 साल की उम्र में क्षयरोग के चलते उनकी मृत्यु हो गई.

सच तो यह है कि जयशंकर प्रसाद का रचनाकर्म इतना विशद है कि उन्हें किसी एक लेख में समेटना असंभव है. समस्त TMP परिवार जयशंकर प्रसाद जी की पुण्यतिथि पर उन्हें नमन करता है |

साभार: जय प्रकाश पाण्डेय

#poetry #love #poetrycommunity #writersofinstagram #poem #poet #poems #quotes #poetsofinstagram #writer #writing #art #lovequotes #wordporn #thoughts #quote #quoteoftheday #writersofig #words #shayari #life #writerscommunity #instagram #inspirationalquotes #poetryofinstagram #writers #wordsofwisdom #themodernpoets
25 0 15 November, 2019

Happy Children Day
उम्र 0
समाज क्या कहेगा अभी शादी भी नहीं हुई है
गिरा दो पेट से कम से कम हमको राहत मिलेगी

अरे ! लड़की है पेट में ही मार दो बड़ी हुई तो रेप का शिकार बनेगी ।
उम्र 5
खेलने की उम्र में झेला बलात्कार
खिलौने, कहानी ? नहीं ! मोबाइल हाथ में, कानों में तार
उम्र 10
बस , शरीर से भारी बस्ता , ढूंढता गलत रस्ता
प्ले ग्राउंड अब प्लेयर unknown बैटल ग्राउंड (pubg)में बदलता ।

उम्र 15
नशा, लड़की के पीछे टहलता, Fb Insta पर ही ठहरता
JEE, Neet, देखो बच्चा अब कैसे बदलता ।
अब उम्र 18 पार है , excuse me बचपना अब बीमार है
संभाली यादों के नाम पर fb नोटिफिकेशन हैं जीवन में लड़ो बढ़ो कितना ज़्यादा टेंशन है ।
वो नाव वो बादल वो पकड़म पकड़ाई
वो झगड़े वो लड़ाई वो कान खिंचाई
वो तीन के ग्रुप में मिल के एक कि जमकर बुराई
सब अब नही दिखते क्योंकि अब बचपना बचपन मे ही दम तोड़ दे रहा है ।
बच्चा पैदा होते ही बड़ा हो रहा है
अब बचपना ही खो रहा है। अब बचपना ही कहीं खो रहा है । ©Mohit | TMP

#childrenday #themodernpoets #tmp #poetry #poet #kavita #hindi #hindikavita

Happy Children Day 
उम्र 0 
समाज क्या कहेगा अभी शादी भी नहीं हुई है 
गिरा दो पेट से कम से कम हमको राहत मिलेगी

अरे ! लड़की है पेट  में ही मार दो बड़ी हुई तो रेप का शिकार बनेगी । 
उम्र 5
खेलने की उम्र में झेला बलात्कार 
खिलौने, कहानी ? नहीं ! मोबाइल हाथ में, कानों में तार 
उम्र 10 
बस , शरीर से भारी बस्ता , ढूंढता गलत रस्ता 
प्ले ग्राउंड अब प्लेयर unknown बैटल ग्राउंड (pubg)में बदलता ।

उम्र 15 
नशा, लड़की के पीछे टहलता, Fb Insta पर ही ठहरता 
JEE, Neet,  देखो बच्चा अब कैसे बदलता । 
अब उम्र 18 पार है , excuse me बचपना अब बीमार है 
संभाली यादों के नाम पर fb नोटिफिकेशन हैं जीवन में लड़ो बढ़ो कितना ज़्यादा टेंशन है । 
वो नाव वो बादल वो पकड़म पकड़ाई 
वो झगड़े वो लड़ाई वो कान खिंचाई 
वो तीन के ग्रुप में मिल के एक कि जमकर बुराई 
सब अब नही दिखते क्योंकि अब बचपना बचपन मे ही दम तोड़ दे रहा है ।
बच्चा पैदा होते ही बड़ा हो रहा है 
अब बचपना ही खो रहा है। अब बचपना ही कहीं खो रहा है । ©Mohit | TMP

#childrenday #themodernpoets  #tmp #poetry #poet #kavita #hindi #hindikavita
38 2 14 November, 2019

आज का शब्द : आसक्त

#shabdokasafar #themodernpoets #tmp

आज का शब्द : आसक्त

#shabdokasafar #themodernpoets #tmp
31 1 13 November, 2019

युद्ध.... मैं बीच खड़ा हूँ,युद्ध के
अनगिनत अधूरे शवों के बीच,
लाल ज़मीं की चीख के बीच,
रूढ़िवादी रीत के बीच.
मैं बीच खड़ा हूँ,युद्ध के.
युद्ध, जो नोच रहा है, हर बारीख परत को,
हर गुलाबी महक को, हर छूते अहसास को, हर इंद्रधनुषी आभास को.
मैं बीच खड़ा हूँ, इसी युद्ध के.
देख रहा हूँ, सहमे आसूं,
अधूरी बातें, कटी जबान,
अपनो पर होता विलाप,
नन्हे सच पर अविस्वास.
देख रहा हूँ, सोच रहा हूँ,
दो अहसास, दो आंखें, दो बातें, दो जबान,
जो मिल न सके,
तो,
युद्ध का बिगुल बज गया,
तलवारें उठ गईं,
आंखों में खून दौड़ने लगा,
मैं बीच खड़ा हूँ,इसी युद्ध के.
ढूंढ रहा हूँ,वो दो आंखें,
जो मिल जाएं, तो युद्ध रोक दूँ,
पूछ लूं,
की कारण,बस दो आंखों के,
क्यों जलें सेखड़ो आंखें,
क्यों मिटें करोड़ो अहसास.
क्यों मरे,वो जीवन की आस,
क्यों करें, हम व्यर्थ विलाप.
मैं बीच खड़ा हूँ ,युद्ध के.
अडिग,अमिट, शांत, पूर्ण
पूछ रहा हूँ, युद्ध का कारण
देख रहा हूँ एक नया कल...
मैं बीच खड़ा हूँ युद्ध के.... #storytelling #story #storyteller #poetryofinstagram #poem #yudh #war #warriors #life #poetrycommunity #poetrycommunity #themodernpoets #hindiwriting #hindiwriters #hindistory #hindikavita #kavita #share #like #read

युद्ध.... मैं बीच खड़ा हूँ,युद्ध के
अनगिनत अधूरे शवों के बीच,
लाल ज़मीं की चीख के बीच,
रूढ़िवादी रीत के बीच.
मैं बीच खड़ा हूँ,युद्ध के.
युद्ध, जो नोच रहा है, हर बारीख परत को,
हर गुलाबी महक को, हर छूते अहसास को, हर इंद्रधनुषी आभास को.
मैं बीच खड़ा हूँ, इसी युद्ध के.
देख रहा हूँ, सहमे आसूं,
अधूरी बातें, कटी जबान, 
अपनो पर होता विलाप, 
नन्हे सच पर अविस्वास.
देख रहा हूँ, सोच रहा हूँ,
दो अहसास, दो आंखें, दो बातें, दो जबान, 
जो मिल न सके,
तो,
युद्ध का बिगुल बज गया,
तलवारें उठ गईं,
आंखों में खून दौड़ने लगा,
मैं बीच खड़ा हूँ,इसी युद्ध के.
ढूंढ रहा हूँ,वो दो आंखें,
जो मिल जाएं, तो युद्ध रोक दूँ,
पूछ लूं,
की कारण,बस दो आंखों के,
क्यों जलें सेखड़ो आंखें,
क्यों मिटें करोड़ो अहसास.
क्यों मरे,वो जीवन की आस,
क्यों करें, हम व्यर्थ विलाप.
मैं बीच खड़ा हूँ ,युद्ध के.
अडिग,अमिट, शांत, पूर्ण
पूछ रहा हूँ, युद्ध का कारण
देख रहा हूँ एक नया कल...
मैं बीच खड़ा हूँ युद्ध के.... #storytelling #story #storyteller #poetryofinstagram #poem #yudh #war #warriors #life #poetrycommunity #poetrycommunity #themodernpoets #hindiwriting #hindiwriters #hindistory #hindikavita #kavita #share #like #read
32 0 12 November, 2019

मै एक अभिनेता हूँ
मेरी कला से मै पहचाना जाता हूँ
मेरी कला कलम की तरह है
छोटी सी ,कई प्रकारो में आने वाली
नए बिरंगे रंगो में आने वाली कला
मेरी कला को किसी भी रंग में आप रंग सकते है !
ये मेरी कला जो है
बड़ी रंगीन है..
इसे किसी लोकतंत्र या सत्ता का डर नहीं
ये बेख़ौफ़ है ,स्वतंत्र है
बिलकुल कलम की तरह
बस वो चलना चाहती है
फिर वो चाहे किसी के हांथो में क्यों न हो ,
अच्छे हांथो में पड़ जाये तो इतिहास बदल देती है
और बुरे हांथो में पड़ जाये
तो भी इतिहास ही बदल देती है ,
कुछ लोग मेरी कला को पानी से तौलते हैं
लेकिन जमाना बदल गया हैं
इस लिए मै इसे कलम से तौलता हूँ..
कलम और कला"
देखिये कितना करीबी रिस्ता सा लगता हैं
कलम और कला "
मनो दो जुड़वाँ भाई जैसे..
ये स्याही से चलते हैं
और हम साहित्य से
अब इसका पता लगाना थोड़ा मुश्किल हैं
की पहले स्याही आयी या साहित्य
ये बाजार में बिकते हैं
और हमारी भी एक बाजार हैं
बस जानना ये हैं की
क्या हम भी बिकाऊ हैं... Vaibhav Raj Gupta | @vaibhavrajgupta
#poetry #love #poetrycommunity #writersofinstagram #poem #poet #poems #quotes #poetsofinstagram #writer #writing #art #lovequotes #wordporn #thoughts #quote #quoteoftheday #writersofig #words #shayari #life #writerscommunity #instagram #inspirationalquotes #poetryofinstagram #writers #wordsofwisdom #themodernpoets #tmp

मै एक अभिनेता हूँ
मेरी कला से मै पहचाना जाता हूँ
मेरी कला कलम की तरह है
छोटी सी ,कई प्रकारो में आने वाली
नए बिरंगे रंगो में आने वाली कला
मेरी कला को किसी भी रंग में आप रंग सकते है !
ये मेरी कला जो है
बड़ी रंगीन है..
इसे किसी लोकतंत्र या सत्ता का डर नहीं
ये बेख़ौफ़ है ,स्वतंत्र है
बिलकुल कलम की तरह
बस वो चलना चाहती है
फिर वो चाहे किसी के हांथो में क्यों न हो ,
अच्छे हांथो में पड़ जाये तो इतिहास बदल देती है
और बुरे हांथो में पड़ जाये
तो भी इतिहास ही बदल देती है ,
कुछ लोग मेरी कला को पानी से तौलते हैं
लेकिन जमाना बदल गया हैं
इस लिए मै इसे कलम से तौलता हूँ..
कलम और कला"
देखिये कितना करीबी रिस्ता सा लगता हैं
कलम और कला "
मनो दो जुड़वाँ भाई जैसे..
ये स्याही से चलते हैं
और हम साहित्य से
अब इसका पता लगाना थोड़ा मुश्किल हैं
की पहले स्याही आयी या साहित्य
ये बाजार में बिकते हैं
और हमारी भी एक बाजार हैं
बस जानना ये हैं की
क्या हम भी बिकाऊ हैं... Vaibhav Raj Gupta | @vaibhavrajgupta 
#poetry #love #poetrycommunity #writersofinstagram #poem #poet #poems #quotes #poetsofinstagram #writer #writing #art #lovequotes #wordporn #thoughts #quote #quoteoftheday #writersofig #words #shayari #life #writerscommunity #instagram #inspirationalquotes #poetryofinstagram #writers #wordsofwisdom #themodernpoets #tmp
46 2 12 November, 2019

माना वक़्त रेत की तरह है, एक बार फिसल जाए, तो वापस नहीं आता।
पर कभी-कभी वक़्त से खुद के लिए वक़्त मांग लेना इतना बुरा भी नहीं- प्रेरिका
.
.
Few lines from my poem अकेलापन that I uplaoded yesterday, have you seen it yet? If you have, please drop a heart in the comment section. If you haven't, go and watch it. The link is in my bio.
.
.
#mysticvillage #khajjiar #himachalpradesh #loneliness #poetsofinstagram #hindikavitayein #hindikavita #themodernpoets #poemsindia #kavitayein #poetry #hindipoetry #writersofinstagram #instagram #travelhimachal #khajjiar #himachal_tourism #shetravelsindia #indiangirlstravel #explorewithtowno #budgetwayfarers

माना वक़्त रेत की तरह है, एक बार फिसल जाए, तो वापस नहीं आता।
पर कभी-कभी वक़्त से खुद के लिए वक़्त मांग लेना इतना बुरा भी नहीं- प्रेरिका
.
.
Few lines from my poem अकेलापन that I uplaoded yesterday, have you seen it yet? If you have, please drop a heart in the comment section. If you haven't, go and watch it. The link is in my bio.
.
.
#mysticvillage #khajjiar #himachalpradesh #loneliness #poetsofinstagram #hindikavitayein #hindikavita #themodernpoets #poemsindia #kavitayein #poetry #hindipoetry #writersofinstagram #instagram #travelhimachal #khajjiar #himachal_tourism #shetravelsindia #indiangirlstravel #explorewithtowno #budgetwayfarers
197 8 11 November, 2019

वो 'प्रयागराज' की तरह बदल तो गया
दिल में उसके मैं लेकिन ‘इलाहाबाद ' सी रह गयी!!!
© Sadaf Khan
@sadafkhan_06
#lovepoetry #poetry #love #poetrycommunity #urdupoetry #lovequotes #lovepoems #writerscommunity #urdu #poetryporn #writersofinstagram #poetryofinstagram #poems #sadpoetry #sad #poet #poetsofinstagram #shayri #quotes #poetryisnotdead #poem #shayari #instapoetry #poetrylovers #feelings #lovepoem #sinner #lovewords #themodernpoets #sadaf

वो 'प्रयागराज' की तरह बदल तो गया
दिल में उसके मैं लेकिन ‘इलाहाबाद ' सी रह गयी!!!
© Sadaf Khan 
@sadafkhan_06 
#lovepoetry #poetry #love #poetrycommunity #urdupoetry #lovequotes #lovepoems #writerscommunity #urdu #poetryporn #writersofinstagram #poetryofinstagram #poems #sadpoetry #sad #poet #poetsofinstagram #shayri #quotes #poetryisnotdead #poem #shayari #instapoetry #poetrylovers #feelings #lovepoem #sinner #lovewords #themodernpoets #sadaf
99 1 10 November, 2019

समस्त TMP परिवार जौन एलिया जी की पुण्यतिथि पर उन्हें नमन करता है
#jaunelia #urdu #urdupoetry #shayari #urduadab #rahatindori #urdushayari #poetry #mirzaghalib #allamaiqbal #gazal #nfak #shayar #ghalib #ishq #ahmadfaraz #tehzeebhafi #jauneliapoetry #alizaryoun #rekhta #shayarilover #poetrylovers #hindi #urduliterature #urduzone #mohsinnaqvi #ghazal #themodernpoets #tmp

समस्त TMP परिवार जौन एलिया जी की पुण्यतिथि पर उन्हें नमन करता है 
#jaunelia #urdu #urdupoetry #shayari #urduadab #rahatindori #urdushayari #poetry #mirzaghalib #allamaiqbal #gazal #nfak #shayar #ghalib #ishq #ahmadfaraz #tehzeebhafi #jauneliapoetry #alizaryoun #rekhta #shayarilover #poetrylovers #hindi #urduliterature #urduzone #mohsinnaqvi #ghazal #themodernpoets #tmp
94 1 8 November, 2019

समस्त TMP परिवार जौन एलिया जी की पुण्यतिथि पर उन्हें नमन करता है
#jaunelia #urdu #urdupoetry #shayari #urduadab #rahatindori #urdushayari #poetry #mirzaghalib #allamaiqbal #gazal #nfak #shayar #ghalib #ishq #ahmadfaraz #tehzeebhafi #jauneliapoetry #alizaryoun #rekhta #shayarilover #poetrylovers #hindi #urduliterature #urduzone #mohsinnaqvi #ghazal #themodernpoets #tmp

समस्त TMP परिवार जौन एलिया जी की पुण्यतिथि पर उन्हें नमन करता है 
#jaunelia #urdu #urdupoetry #shayari #urduadab #rahatindori #urdushayari #poetry #mirzaghalib #allamaiqbal #gazal #nfak #shayar #ghalib #ishq #ahmadfaraz #tehzeebhafi #jauneliapoetry #alizaryoun #rekhta #shayarilover #poetrylovers #hindi #urduliterature #urduzone #mohsinnaqvi #ghazal #themodernpoets #tmp
53 0 8 November, 2019

समस्त TMP परिवार जौन एलिया जी की पुण्यतिथि पर उन्हें नमन करता है
#jaunelia #urdu #urdupoetry #shayari #urduadab #rahatindori #urdushayari #poetry #mirzaghalib #allamaiqbal #gazal #nfak #shayar #ghalib #ishq #ahmadfaraz #tehzeebhafi #jauneliapoetry #alizaryoun #rekhta #shayarilover #poetrylovers #hindi #urduliterature #urduzone #mohsinnaqvi #ghazal #themodernpoets #tmp

समस्त TMP परिवार जौन एलिया जी की पुण्यतिथि पर उन्हें नमन करता है 
#jaunelia #urdu #urdupoetry #shayari #urduadab #rahatindori #urdushayari #poetry #mirzaghalib #allamaiqbal #gazal #nfak #shayar #ghalib #ishq #ahmadfaraz #tehzeebhafi #jauneliapoetry #alizaryoun #rekhta #shayarilover #poetrylovers #hindi #urduliterature #urduzone #mohsinnaqvi #ghazal #themodernpoets #tmp
56 0 8 November, 2019

समस्त TMP परिवार जौन एलिया जी की पुण्यतिथि पर उन्हें नमन करता है
#jaunelia #urdu #urdupoetry #shayari #urduadab #rahatindori #urdushayari #poetry #mirzaghalib #allamaiqbal #gazal #nfak #shayar #ghalib #ishq #ahmadfaraz #tehzeebhafi #jauneliapoetry #alizaryoun #rekhta #shayarilover #poetrylovers #hindi #urduliterature #urduzone #mohsinnaqvi #ghazal #themodernpoets #tmp

समस्त TMP परिवार जौन एलिया जी की पुण्यतिथि पर उन्हें नमन करता है 
#jaunelia #urdu #urdupoetry #shayari #urduadab #rahatindori #urdushayari #poetry #mirzaghalib #allamaiqbal #gazal #nfak #shayar #ghalib #ishq #ahmadfaraz #tehzeebhafi #jauneliapoetry #alizaryoun #rekhta #shayarilover #poetrylovers #hindi #urduliterature #urduzone #mohsinnaqvi #ghazal #themodernpoets #tmp
166 1 8 November, 2019

समस्त TMP परिवार जौन एलिया जी की पुण्यतिथि पर उन्हें नमन करता है
#jaunelia #urdu #urdupoetry #shayari #urduadab #rahatindori #urdushayari #poetry #mirzaghalib #allamaiqbal #gazal #nfak #shayar #ghalib #ishq #ahmadfaraz #tehzeebhafi #jauneliapoetry #alizaryoun #rekhta #shayarilover #poetrylovers #hindi #urduliterature #urduzone #mohsinnaqvi #ghazal #themodernpoets #tmp

समस्त TMP परिवार जौन एलिया जी की पुण्यतिथि पर उन्हें नमन करता है 
#jaunelia #urdu #urdupoetry #shayari #urduadab #rahatindori #urdushayari #poetry #mirzaghalib #allamaiqbal #gazal #nfak #shayar #ghalib #ishq #ahmadfaraz #tehzeebhafi #jauneliapoetry #alizaryoun #rekhta #shayarilover #poetrylovers #hindi #urduliterature #urduzone #mohsinnaqvi #ghazal #themodernpoets #tmp
53 0 8 November, 2019

समस्त TMP परिवार जौन एलिया जी की पुण्यतिथि पर उन्हें नमन करता है
#jaunelia #urdu #urdupoetry #shayari #urduadab #rahatindori #urdushayari #poetry #mirzaghalib #allamaiqbal #gazal #nfak #shayar #ghalib #ishq #ahmadfaraz #tehzeebhafi #jauneliapoetry #alizaryoun #rekhta #shayarilover #poetrylovers #hindi #urduliterature #urduzone #mohsinnaqvi #ghazal #themodernpoets #tmp

समस्त TMP परिवार जौन एलिया जी की पुण्यतिथि पर उन्हें नमन करता है 
#jaunelia #urdu #urdupoetry #shayari #urduadab #rahatindori #urdushayari #poetry #mirzaghalib #allamaiqbal #gazal #nfak #shayar #ghalib #ishq #ahmadfaraz #tehzeebhafi #jauneliapoetry #alizaryoun #rekhta #shayarilover #poetrylovers #hindi #urduliterature #urduzone #mohsinnaqvi #ghazal #themodernpoets #tmp
53 0 8 November, 2019

अब इतनी सादगी लाएँ कहाँ से
ज़मीं की ख़ैर माँगें आसमाँ से

अगर चाहें तो वो दीवार कर दें
हमें अब कुछ नहीं कहना ज़बाँ से

सितारा ही नहीं जब साथ देता
तो कश्ती काम ले क्या बादबाँ से

भटकने से मिले फ़ुर्सत तो पूछें
पता मंज़िल का मीर-ए-कारवाँ से

तवज्जोह बर्क़ की हासिल रही है
सो है आज़ाद फ़िक्र-ए-आशियाँ से

हवा को राज़-दाँ हम ने बनाया
और अब नाराज़ ख़ुशबू के बयाँ से

ज़रूरी हो गई है दिल की ज़ीनत
मकीं पहचाने जाते हैं मकाँ से

फ़ना-फ़िल-इश्क़ होना चाहते थे
मगर फ़ुर्सत न थी कार-ए-जहाँ से

वगर्ना फ़स्ल-ए-गुल की क़द्र क्या थी
बड़ी हिकमत है वाबस्ता ख़िज़ाँ से

किसी ने बात की थी हँस के शायद
ज़माने भर से हैं हम ख़ुद गुमाँ से

मैं इक इक तीर पे ख़ुद ढाल बनती
अगर होता वो दुश्मन की कमाँ से

जो सब्ज़ा देख कर ख़ेमे लगाएँ
उन्हें तकलीफ़ क्यूँ पहुँचे ख़िज़ाँ से

जो अपने पेड़ जलते छोड़ जाएँ
उन्हें क्या हक़ कि रूठें बाग़बाँ से © परवीन शाकिर | TMP

#shayari #love #poetry #shayar #urdupoetry #quotes #lovequotes #urdu #hindishayari #shayarilover #hindi #ishq #loveshayari #sadshayari #follow #mohabbat #instagram #sad #instashayari #shayariquotes #urdushayari #like #dil #hindipoetry #writersofinstagram #shayaris #hindiquotes #themodernpoets #tmp #parveenshakir

अब इतनी सादगी लाएँ कहाँ से
ज़मीं की ख़ैर माँगें आसमाँ से

अगर चाहें तो वो दीवार कर दें
हमें अब कुछ नहीं कहना ज़बाँ से

सितारा ही नहीं जब साथ देता
तो कश्ती काम ले क्या बादबाँ से

भटकने से मिले फ़ुर्सत तो पूछें
पता मंज़िल का मीर-ए-कारवाँ से

तवज्जोह बर्क़ की हासिल रही है
सो है आज़ाद फ़िक्र-ए-आशियाँ से

हवा को राज़-दाँ हम ने बनाया
और अब नाराज़ ख़ुशबू के बयाँ से

ज़रूरी हो गई है दिल की ज़ीनत
मकीं पहचाने जाते हैं मकाँ से

फ़ना-फ़िल-इश्क़ होना चाहते थे
मगर फ़ुर्सत न थी कार-ए-जहाँ से

वगर्ना फ़स्ल-ए-गुल की क़द्र क्या थी
बड़ी हिकमत है वाबस्ता ख़िज़ाँ से

किसी ने बात की थी हँस के शायद
ज़माने भर से हैं हम ख़ुद गुमाँ से

मैं इक इक तीर पे ख़ुद ढाल बनती
अगर होता वो दुश्मन की कमाँ से

जो सब्ज़ा देख कर ख़ेमे लगाएँ
उन्हें तकलीफ़ क्यूँ पहुँचे ख़िज़ाँ से

जो अपने पेड़ जलते छोड़ जाएँ
उन्हें क्या हक़ कि रूठें बाग़बाँ से © परवीन शाकिर | TMP

#shayari #love #poetry #shayar #urdupoetry #quotes #lovequotes #urdu #hindishayari #shayarilover #hindi #ishq #loveshayari #sadshayari #follow #mohabbat #instagram #sad #instashayari #shayariquotes #urdushayari #like #dil #hindipoetry #writersofinstagram #shayaris #hindiquotes #themodernpoets #tmp #parveenshakir
72 0 7 November, 2019

आज का शब्द: ग़ाएबाना
अर्थ: absence, invisibly, secretly

उदाहरण:
सुन तो सही जहाँ में है तेरा फ़साना क्या
कहती है तुझ को ख़ल्क़-ए-ख़ुदा ग़ाएबाना क्या
हैदर अली आतिश

#shayari #love #poetry #shayar #urdupoetry #quotes #lovequotes #urdu #hindishayari #shayarilover #hindi #ishq #loveshayari #sadshayari #follow #mohabbat #instagram #sad #instashayari #shayariquotes #urdushayari #like #dil #hindipoetry #writersofinstagram #shayaris #hindiquotes #themodernpoets #tmp #shabdokasafar

आज का शब्द: ग़ाएबाना
अर्थ: absence, invisibly, secretly

उदाहरण:
सुन तो सही जहाँ में है तेरा फ़साना क्या
कहती है तुझ को ख़ल्क़-ए-ख़ुदा ग़ाएबाना क्या
हैदर अली आतिश

#shayari #love #poetry #shayar #urdupoetry #quotes #lovequotes #urdu #hindishayari #shayarilover #hindi #ishq #loveshayari #sadshayari #follow #mohabbat #instagram #sad #instashayari #shayariquotes #urdushayari #like #dil #hindipoetry #writersofinstagram #shayaris #hindiquotes #themodernpoets #tmp #shabdokasafar
29 0 7 November, 2019

सारी खुशियों के पैमाने ,भर कर ,अब गिर जाएंगे,
सूना आंगन, रोती चौखट, सब यू ही मर जाएंगे.
आंखों की रंगीन चमक, जो देखे है उस बादल को,
वो सारे के सारे बादल, बरस बरस बह जाएंगे.
बड़ी इमारत पे बैठी, एक छोटी बच्ची रोती है,
एक इंसा था, हम जिसकी अब अरथी लेकर जाएंगे.
कितनी दुनिया, कितनी मिट्टी,मुझको छूकर गुज़री है
गिनते गिनते बीत गया दिन, रात को हम सो जाएंगे.
और कहें क्या,कहना सुनना, सब घेरे हैं, आंगन को
हम आंगन की मट्टी लेकर दूर कहीं खो जाएंगे. #poetryofinstagram #poem #poetrycommunity #hindiwriting #hindiwriters #hindi #poetrycommunity #poetsofindia #poet #quotestagram #themodernpoets #hindikahaniya #hindikavita #kavita #kavyamadhavan #gazal #death #mrityu

सारी खुशियों के पैमाने ,भर कर ,अब गिर जाएंगे,
सूना आंगन, रोती चौखट, सब यू ही मर जाएंगे.
आंखों की रंगीन चमक, जो देखे है उस बादल को,
वो सारे के सारे बादल, बरस बरस बह जाएंगे.
बड़ी इमारत पे बैठी, एक छोटी बच्ची रोती है,
एक इंसा था, हम जिसकी अब अरथी लेकर जाएंगे.
कितनी दुनिया, कितनी मिट्टी,मुझको छूकर गुज़री है
गिनते गिनते बीत गया दिन, रात को हम सो जाएंगे.
और कहें क्या,कहना सुनना, सब घेरे हैं, आंगन को
हम आंगन की मट्टी लेकर दूर कहीं खो जाएंगे. #poetryofinstagram #poem #poetrycommunity #hindiwriting #hindiwriters #hindi #poetrycommunity #poetsofindia #poet #quotestagram #themodernpoets #hindikahaniya #hindikavita #kavita #kavyamadhavan #gazal #death #mrityu
53 0 6 November, 2019

आज का शब्द: शिकम
अर्थ : पेट, Stomach, Belly
उदाहरण:
शिकम की आग लिए फिर रही है शहर-ब-शहर
सग-ए-ज़माना हैं हम क्या हमारी हिजरत क्या
इफ़्तिख़ार आरिफ़
#poetry #love #poetrycommunity #writersofinstagram #poem #poet #poems #quotes #poetsofinstagram #writer #writing #art #lovequotes #wordporn #thoughts #quote #quoteoftheday #writersofig #words #shayari #life #writerscommunity #instagram #inspirationalquotes #poetryofinstagram #writers #wordsofwisdom #themodernpoets #shabdokasafar

आज का शब्द: शिकम
अर्थ : पेट, Stomach, Belly 
उदाहरण: 
शिकम की आग लिए फिर रही है शहर-ब-शहर 
सग-ए-ज़माना हैं हम क्या हमारी हिजरत क्या 
इफ़्तिख़ार आरिफ़ 
#poetry #love #poetrycommunity #writersofinstagram #poem #poet #poems #quotes #poetsofinstagram #writer #writing #art #lovequotes #wordporn #thoughts #quote #quoteoftheday #writersofig #words #shayari #life #writerscommunity #instagram #inspirationalquotes #poetryofinstagram #writers #wordsofwisdom #themodernpoets #shabdokasafar
35 1 6 November, 2019

सत्य को लकवा मार गया है
वह लंबे काठ की तरह
पड़ा रहता है सारा दिन, सारी रात
वह फटी–फटी आँखों से
टुकुर–टुकुर ताकता रहता है सारा दिन, सारी रात
कोई भी सामने से आए–जाए
सत्य की सूनी निगाहों में जरा भी फर्क नहीं पड़ता
पथराई नज़रों से वह यों ही देखता रहेगा
सारा–सारा दिन, सारी–सारी रात

सत्य को लकवा मार गया है
गले से ऊपरवाली मशीनरी पूरी तरह बेकार हो गई है
सोचना बंद
समझना बंद
याद करना बंद
याद रखना बंद
दिमाग की रगों में ज़रा भी हरकत नहीं होती
सत्य को लकवा मार गया है
कौर अंदर डालकर जबड़ों को झटका देना पड़ता है
तब जाकर खाना गले के अंदर उतरता है
ऊपरवाली मशीनरी पूरी तरह बेकार हो गई है
सत्य को लकवा मार गया है

वह लंबे काठ की तरह पड़ा रहता है
सारा–सारा दिन, सारी–सारी रात
वह आपका हाथ थामे रहेगा देर तक
वह आपकी ओर देखता रहेगा देर तक
वह आपकी बातें सुनता रहेगा देर तक

लेकिन लगेगा नहीं कि उसने आपको पहचान लिया है

जी नहीं, सत्य आपको बिल्कुल नहीं पहचानेगा
पहचान की उसकी क्षमता हमेशा के लिए लुप्त हो चुकी है
जी हाँ, सत्य को लकवा मार गया है
उसे इमर्जेंसी का शाक लगा है
लगता है, अब वह किसी काम का न रहा
जी हाँ, सत्य अब पड़ा रहेगा
लोथ की तरह, स्पंदनशून्य मांसल देह की तरह! © बाबा नागार्जुन
#hindipoetry #hindi #shayari #poetry #hindiquotes #urdupoetry #love #hindishayari #lovequotes #urdu #hindipoem #writersofinstagram #shayar #shayri #hindikavita #poetrycommunity #mohabbat #hindiwriters #hindiwriting #shayarilover #ishq #hindiwriter #shayaris #writer #rekhta #hindishayri #quotes #themodernpoets #tmp

सत्य को लकवा मार गया है
वह लंबे काठ की तरह
पड़ा रहता है सारा दिन, सारी रात
वह फटी–फटी आँखों से
टुकुर–टुकुर ताकता रहता है सारा दिन, सारी रात
कोई भी सामने से आए–जाए
सत्य की सूनी निगाहों में जरा भी फर्क नहीं पड़ता
पथराई नज़रों से वह यों ही देखता रहेगा
सारा–सारा दिन, सारी–सारी रात

सत्य को लकवा मार गया है
गले से ऊपरवाली मशीनरी पूरी तरह बेकार हो गई है
सोचना बंद
समझना बंद
याद करना बंद
याद रखना बंद
दिमाग की रगों में ज़रा भी हरकत नहीं होती
सत्य को लकवा मार गया है
कौर अंदर डालकर जबड़ों को झटका देना पड़ता है
तब जाकर खाना गले के अंदर उतरता है
ऊपरवाली मशीनरी पूरी तरह बेकार हो गई है
सत्य को लकवा मार गया है

वह लंबे काठ की तरह पड़ा रहता है
सारा–सारा दिन, सारी–सारी रात
वह आपका हाथ थामे रहेगा देर तक
वह आपकी ओर देखता रहेगा देर तक
वह आपकी बातें सुनता रहेगा देर तक

लेकिन लगेगा नहीं कि उसने आपको पहचान लिया है

जी नहीं, सत्य आपको बिल्कुल नहीं पहचानेगा
पहचान की उसकी क्षमता हमेशा के लिए लुप्त हो चुकी है
जी हाँ, सत्य को लकवा मार गया है
उसे इमर्जेंसी का शाक लगा है
लगता है, अब वह किसी काम का न रहा
जी हाँ, सत्य अब पड़ा रहेगा
लोथ की तरह, स्पंदनशून्य मांसल देह की तरह! © बाबा नागार्जुन
#hindipoetry #hindi #shayari #poetry #hindiquotes #urdupoetry #love #hindishayari #lovequotes #urdu #hindipoem #writersofinstagram #shayar #shayri #hindikavita #poetrycommunity #mohabbat #hindiwriters #hindiwriting #shayarilover #ishq #hindiwriter #shayaris #writer #rekhta #hindishayri #quotes #themodernpoets #tmp
36 0 5 November, 2019

आज का शब्द : अभ्यर्थना
अर्थ : अनुरोध, विनती

उदाहरण
मुक्तिकामी चेतना अभ्यर्थना इतिहास की
यह समझदारों की दुनिया है विरोधाभास की © अदम गोंडवी
#hindipoetry #hindi #shayari #poetry #hindiquotes #urdupoetry #love #hindishayari #lovequotes #urdu #hindipoem #writersofinstagram #shayar #shayri #hindikavita #poetrycommunity #mohabbat #hindiwriters #hindiwriting #shayarilover #ishq #hindiwriter #shayaris #writer #rekhta #hindishayri #quotes #themodernpoets #tmp #shadokasafar

आज का शब्द : अभ्यर्थना
अर्थ : अनुरोध, विनती

उदाहरण
मुक्तिकामी चेतना अभ्यर्थना इतिहास की
यह समझदारों की दुनिया है विरोधाभास की © अदम गोंडवी
#hindipoetry #hindi #shayari #poetry #hindiquotes #urdupoetry #love #hindishayari #lovequotes #urdu #hindipoem #writersofinstagram #shayar #shayri #hindikavita #poetrycommunity #mohabbat #hindiwriters #hindiwriting #shayarilover #ishq #hindiwriter #shayaris #writer #rekhta #hindishayri #quotes #themodernpoets #tmp #shadokasafar
31 0 5 November, 2019
Patjhad ke mausam ki woh seeli seeli suhaani dhoop.. gaalon par nikhari woh peeli peeli ruhaani dhoop .. #ShairaKaSalaam #shayari #shabd #shair #poetry #hindipoetry #kavi #lekhak #writersofindia #writersofcanada #toronto #writing #urdupoetry #Urdu shayari #hindi #hindikavita #hindi #writersofinstagram #themodernpoets #poetrycommunity
53 1 5 November, 2019

आज का शब्द : मुहाल
अर्थ : कठिन | Difficult
उदाहरण
चलते रहे तो कौन सा अपना कमाल था
ये वो सफ़र था जिस में ठहरना मुहाल था

शबनम शकील

#hindipoetry #hindi #shayari #poetry #hindiquotes #urdupoetry #love #hindishayari #lovequotes #urdu #hindipoem #writersofinstagram #shayar #shayri #hindikavita #poetrycommunity #mohabbat #hindiwriters #hindiwriting #shayarilover #ishq #hindiwriter #shayaris #writer #rekhta #hindishayri #quotes #themodernpoets #tmp #shabdokasafar

आज का शब्द : मुहाल 
अर्थ : कठिन | Difficult 
उदाहरण
चलते रहे तो कौन सा अपना कमाल था
ये वो सफ़र था जिस में ठहरना मुहाल था

शबनम शकील

#hindipoetry #hindi #shayari #poetry #hindiquotes #urdupoetry #love #hindishayari #lovequotes #urdu #hindipoem #writersofinstagram #shayar #shayri #hindikavita #poetrycommunity #mohabbat #hindiwriters #hindiwriting #shayarilover #ishq #hindiwriter #shayaris #writer #rekhta #hindishayri #quotes #themodernpoets #tmp #shabdokasafar
36 1 4 November, 2019

"तुम तो कहते थे कि इंसान जो सच्चे दिल से मांगता है उसे ज़रूर मिलता हैं?"
छब्बीस साल की लड़की श्वेता ने राघव को चाय देते हए कहा। राघव ने मुस्कुराते हुए जवाब दिया
"हाँ, तो मैं तो अभी भी यहीं कहूंगा, बेशक इंसान जो मांगता है देर सवेर उसे मिल ही जाता है" श्वेता राघव के बगल में बैठ गई और कहने लगी
"तो मेरे प्रिय ज्ञानी महाराज मुझे ये बताइये मैंने भी तो सच्चे दिल से माँगा था जब हम पिछले महीने मंदिर गए थे। वो तो अब तक पूरा नहीं हुआ"

राघव ने चाय का कप टेबल पर रखा और श्वेता का हाथ अपने हाथ में रखा और कहा
"अच्छा वहीं! जो मैं तुमसे पूछ रहा था कि क्या माँगा और तुमने उस वक़्त क्या कहा था कि...." श्वेता ने राघव की बात काटते हुए कहा
"ऐसे बता देने से फिर जो माँगा है वो नहीं मिलता" राघव हँसने लगा। उसने श्वेता के सर पर हाथ फेरा और कहा
"बता देने से ही मिलता है। बता के देखो तो सहीं" श्वेता ने मायूसी से कहा
"मुझे तुम्हारी पत्नी चाहिए। लाकर दोगे मुझे?" राघव का चेहरा उदासी से भर गया। श्वेता ने अपने पिता राघव के सर पर हाथ फेरते हुए कहा
"मैं जानती हूँ तुम माँ से अब भी बहुत प्यार करते हो। लेकिन वो जा चुकी है, हमसे बहुत दूर। उसके जाने के बाद मैंने तुम्हें अपनी माँ भी माना। अब तुम मेरी शादी कर रहे हो उसके बाद तुम अकेले हो जाओगे जो मैं नहीं देख सकती। इसिलए तुम दूसरी शादी करलो।" राघव समझ नहीं पा रहा था कि वो क्या जवाब दें
"लेकिन श्वेता..." "लेकिन वेकीन कुछ नहीं। सच्चे दिल से इंसान की मन्नत पूरी होती है न?" राघव ने आँख मीचते हुए कहा
"लेकिन मन्नत बता देने से पूरी नहीं होती है फिर" ये कहकर वो हँसने लगा

श्वेता की आँख में आंसू आ गए। नम आंखों से उसने कहा
"पापा इस बार मज़ाक नहीं प्लीज़"

राघव ने श्वेता के सर पर हाथ फेरते हुए कहा
"तुम बहुत ज़िद्दी हो बिल्कुल अपनी माँ की तरह! तुम्हारी माँ ने जाते वक्त कहा था कि दूसरी शादी करलो। मैंने जब मना किया तो उसने कहा मैं भी देखती हो कैसे तुम नहीं करोगे!" #storytelling #storytime #kahani #storyteller #kahanikar #kahaniya #themodernpoets #tmpian #travel

"तुम तो कहते थे कि इंसान जो सच्चे दिल से मांगता है उसे ज़रूर मिलता हैं?"
छब्बीस साल की लड़की श्वेता ने राघव को चाय देते हए कहा। राघव ने मुस्कुराते हुए जवाब दिया
"हाँ, तो मैं तो अभी भी यहीं कहूंगा, बेशक इंसान जो मांगता है देर सवेर उसे मिल ही जाता है" श्वेता राघव के बगल में बैठ गई और कहने लगी
"तो मेरे प्रिय ज्ञानी महाराज मुझे ये बताइये मैंने भी तो सच्चे दिल से माँगा था जब हम पिछले महीने मंदिर गए थे। वो तो अब तक पूरा नहीं हुआ"

राघव ने चाय का कप टेबल पर रखा और श्वेता का हाथ अपने हाथ में रखा और कहा
"अच्छा वहीं! जो मैं तुमसे पूछ रहा था कि क्या माँगा और तुमने उस वक़्त क्या कहा था कि...." श्वेता ने राघव की बात काटते हुए कहा
"ऐसे बता देने से फिर जो माँगा है वो नहीं मिलता" राघव हँसने लगा। उसने श्वेता के सर पर हाथ फेरा और कहा
"बता देने से ही मिलता है। बता के देखो तो सहीं" श्वेता ने मायूसी से कहा
"मुझे तुम्हारी पत्नी चाहिए। लाकर दोगे मुझे?" राघव का चेहरा उदासी से भर गया। श्वेता ने अपने पिता राघव के सर पर हाथ फेरते हुए कहा
"मैं जानती हूँ तुम माँ से अब भी बहुत प्यार करते हो। लेकिन वो जा चुकी है, हमसे बहुत दूर। उसके जाने के बाद मैंने तुम्हें अपनी माँ भी माना। अब तुम मेरी शादी कर रहे हो उसके बाद तुम अकेले हो जाओगे जो मैं नहीं देख सकती। इसिलए तुम दूसरी शादी करलो।" राघव समझ नहीं पा रहा था कि वो क्या जवाब दें
"लेकिन श्वेता..." "लेकिन वेकीन कुछ नहीं। सच्चे दिल से इंसान की मन्नत पूरी होती है न?" राघव ने आँख मीचते हुए कहा
"लेकिन मन्नत बता देने से पूरी नहीं होती है फिर" ये कहकर वो हँसने लगा

श्वेता की आँख में आंसू आ गए। नम आंखों से उसने कहा
"पापा इस बार मज़ाक नहीं प्लीज़"

राघव ने श्वेता के सर पर हाथ फेरते हुए कहा
"तुम बहुत ज़िद्दी हो बिल्कुल अपनी माँ की तरह! तुम्हारी माँ ने जाते वक्त कहा था कि दूसरी शादी करलो। मैंने जब मना किया तो उसने कहा मैं भी देखती हो कैसे तुम नहीं करोगे!" #storytelling #storytime #kahani #storyteller #kahanikar #kahaniya #themodernpoets #tmpian #travel
50 9 4 November, 2019

साहित्य का सफ़र साहित्य आजतक
आवाज़ बढ़ती रहनी चाहिए और फ़ैलती रहनी चहिये |
शुक्रिया @palpoetry ❤️ हार्डवर्किंग और केयरिंग दोस्त💞 #Tmpian #mohit #themodernpoets #storytelling #poet #peace

साहित्य का सफ़र साहित्य आजतक 
आवाज़ बढ़ती रहनी चाहिए और फ़ैलती रहनी चहिये | 
शुक्रिया @palpoetry ❤️ हार्डवर्किंग और केयरिंग दोस्त💞  #Tmpian #mohit #themodernpoets #storytelling #poet #peace
59 2 3 November, 2019

आज का शब्द : अदावत
enmity, hatred, animosity
शत्रुता, बैर, दुश्मनी

उदाहारण:
आज का शब्द: अदावत इस अदा से
लगे है कि जैसे मोहब्बत करे है
कलीम आजिज़

#poetry #love #poetrycommunity #writersofinstagram #poem #poet #poems #quotes #poetsofinstagram #writer #writing #art #lovequotes #wordporn #thoughts #quote #quoteoftheday #writersofig #words #shayari #life #writerscommunity #instagram #inspirationalquotes #poetryofinstagram #writers #themodernpoets #tmp #shabdokasafar

आज का शब्द : अदावत
enmity, hatred, animosity
शत्रुता, बैर, दुश्मनी

उदाहारण:
आज का शब्द: अदावत इस अदा से
लगे है कि जैसे मोहब्बत करे है
कलीम आजिज़

#poetry #love #poetrycommunity #writersofinstagram #poem #poet #poems #quotes #poetsofinstagram #writer #writing #art #lovequotes #wordporn #thoughts #quote #quoteoftheday #writersofig #words #shayari #life #writerscommunity #instagram #inspirationalquotes #poetryofinstagram #writers #themodernpoets #tmp #shabdokasafar
27 1 3 November, 2019

वली दक्कनी | TMP

दिल को लगती है दिलरुबा की अदा
जी में बसती है खुश-अदा की अदा

गर्चे सब ख़ूबरू हैं ख़ूब वले
क़त्ल करती है मीरज़ा की अदा

हर्फ़-ए-बेजा बजा है गर बोलूँ
दुश्मन-ए-होश है पिया की अदा

नक़्श-ए-दीवार क्यूँ न हो आशिक़
हैरत-अफ़ज़ा है बेवफ़ा की अदा

गुल हुये ग़र्क आब-ए-शबनम में
देख उस साहिब-ए-हया की अदा

ऐ "वली" दर्द-ए-सर की दारू है
मुझको उस संदली क़बा की अदा © वली दक्कनी

#poetry #love #poetrycommunity #writersofinstagram #poem #poet #poems #quotes #poetsofinstagram #writer #writing #art #lovequotes #wordporn #thoughts #quote #quoteoftheday #writersofig #words #shayari #life #writerscommunity #instagram #inspirationalquotes #poetryofinstagram #writers #wordsofwisdom #themodernpoets #ghazal #sher

वली दक्कनी | TMP

दिल को लगती है दिलरुबा की अदा
जी में बसती है खुश-अदा की अदा

गर्चे सब ख़ूबरू हैं ख़ूब वले
क़त्ल करती है मीरज़ा की अदा

हर्फ़-ए-बेजा बजा है गर बोलूँ
दुश्मन-ए-होश है पिया की अदा

नक़्श-ए-दीवार क्यूँ न हो आशिक़
हैरत-अफ़ज़ा है बेवफ़ा की अदा

गुल हुये ग़र्क आब-ए-शबनम में
देख उस साहिब-ए-हया की अदा

ऐ "वली" दर्द-ए-सर की दारू है
मुझको उस संदली क़बा की अदा © वली दक्कनी

#poetry #love #poetrycommunity #writersofinstagram #poem #poet #poems #quotes #poetsofinstagram #writer #writing #art #lovequotes #wordporn #thoughts #quote #quoteoftheday #writersofig #words #shayari #life #writerscommunity #instagram #inspirationalquotes #poetryofinstagram #writers #wordsofwisdom #themodernpoets #ghazal #sher
41 3 3 November, 2019

समस्त TMP परिवार शारिक़ कैफ़ी जी के जन्मदिन पर उन्हें हार्दिक शुभकामनाएं देता है |
सुनिए उनके जन्म दिन पर बेहतरीन नज़्म
जनाज़े में तो आओगे न मेरे Ft. Shariq Kaifi Dada <3
Event : हमारी विरासत | बरेली
#poetrycommunity #poetrylovers #poetry #poetryislife #poetryporn #poetryaccount #poetryslam #poetrycorner #poetryandlove #poetryloving #poetrylover #poetryislove #poetryaddict #poetrycosmos #poetrychallenge #poetrybooks #poetrydaily #poetrytribe #poetryworld #poetrymaykhana #poetryisart
#themodernpoets #tmp

समस्त TMP परिवार शारिक़ कैफ़ी जी के जन्मदिन पर उन्हें हार्दिक शुभकामनाएं देता है |
सुनिए उनके जन्म दिन पर बेहतरीन नज़्म 
जनाज़े में तो आओगे न मेरे Ft. Shariq Kaifi Dada <3 
Event : हमारी  विरासत | बरेली 
#poetrycommunity #poetrylovers #poetry #poetryislife #poetryporn #poetryaccount #poetryslam #poetrycorner #poetryandlove #poetryloving #poetrylover #poetryislove #poetryaddict #poetrycosmos #poetrychallenge #poetrybooks #poetrydaily #poetrytribe #poetryworld #poetrymaykhana #poetryisart
#themodernpoets #tmp
27 3 2 November, 2019

🙌🏻✨BREATH IN, BREATH OUT🙌🏻✨ .

I'm making my steps
One by one by one
Still one part of me
Wants to have more impressive results .

Let me hug this part of mine
Let me tell it - I'll be where I need to
In no time
Time is an illusion, sweetie, .

So don't think of your shiny destination
Every step of your journey counts
Every single effort is a milestone
Every morning is a long term project .

Breath in, breath out
Breath in, breath out
Get to know yourself better
Bit by bit
And you'll be where your heart sings. .

Oxana Green (c)

🙌🏻✨BREATH IN, BREATH OUT🙌🏻✨ .

I'm making my steps 
One by one by one 
Still one part of me 
Wants to have more impressive results .

Let me hug this part of mine 
Let me tell it - I'll be where I need to 
In no time 
Time is an illusion, sweetie, .

So don't think of your shiny destination
Every step of your journey counts 
Every single effort is a milestone 
Every morning is a long term project .

Breath in, breath out 
Breath in, breath out 
Get to know yourself better 
Bit by bit 
And you'll be where your heart sings. .

Oxana Green (c)
17 5 1 November, 2019

हल्की हल्की सी सर्द हवा ज़रा ज़रा सा दर्द-ए-दिल
अंदाज अच्छा है अए नवम्बर तेरे आने का
© अज्ञात

#poetry #love #poetrycommunity #writersofinstagram #poem #poet #poems #quotes #poetsofinstagram #writer #writing #art #lovequotes #wordporn #thoughts #quote #quoteoftheday #writersofig #words #shayari #life #writerscommunity #instagram #inspirationalquotes #poetryofinstagram #writers #wordsofwisdom #poetryporn #themodernpoets #tmp

हल्की हल्की सी सर्द हवा ज़रा ज़रा सा दर्द-ए-दिल
अंदाज अच्छा है अए नवम्बर तेरे आने का
© अज्ञात

#poetry #love #poetrycommunity #writersofinstagram #poem #poet #poems #quotes #poetsofinstagram #writer #writing #art #lovequotes #wordporn #thoughts #quote #quoteoftheday #writersofig #words #shayari #life #writerscommunity #instagram #inspirationalquotes #poetryofinstagram #writers #wordsofwisdom #poetryporn #themodernpoets #tmp
51 0 1 November, 2019

आज का शब्द : असरार
अर्थ: Secrets, मर्म, भेद, राज़ (बहुवचन)

उदहारण:
क्यूँ खुल गए लोगों पे मिरी ज़ात के असरार
ऐ काश कि होती मिरी गहराई ज़रा और
©आनिस मुईन

#poetry #love #poetrycommunity #writersofinstagram #poem #poet #poems #quotes #poetsofinstagram #writer #writing #art #lovequotes #wordporn #thoughts #quote #quoteoftheday #writersofig #words #shayari #life #writerscommunity #instagram #inspirationalquotes #poetryofinstagram #writers #wordsofwisdom #themodernpoets #tmp

आज का शब्द : असरार
अर्थ: Secrets, मर्म, भेद, राज़ (बहुवचन)

उदहारण:
क्यूँ खुल गए लोगों पे मिरी ज़ात के असरार
ऐ काश कि होती मिरी गहराई ज़रा और
©आनिस मुईन

#poetry #love #poetrycommunity #writersofinstagram #poem #poet #poems #quotes #poetsofinstagram #writer #writing #art #lovequotes #wordporn #thoughts #quote #quoteoftheday #writersofig #words #shayari #life #writerscommunity #instagram #inspirationalquotes #poetryofinstagram #writers #wordsofwisdom #themodernpoets #tmp
29 0 1 November, 2019

जहाँ कुछ ही दूर पर यादें खड़ी होती है जिनका दरवाज़ा अधखुला होता है, जो पास बुलाती भी है और नहीं भी वहाँ जाने और ना जाने का फैसला हमारा होता है। "गेट के उस तरफ जाऊ न जाऊ!"
गौतम अपने स्कूल के बाहर खड़े होकर इसी असमंजस में है। और होता भी कैसे नहीं पूरे 15 साल बाद वो अपना स्कूल देख रहा था, वहीं स्कूल जहाँ गौतम साईकल से जाया करता था और आज अपनी नई चमचमाती गाड़ी में है। वो जब भी गेट से अंदर की तरफ देख रहा था उसे एक लड़का स्कूल ग्राउंड में सायकल से गोल गोल चक्कर लगाता दिखाई दे रहा था। गौतम ने उस लड़के को इशारा करते हुए अपनी ओर बुलाया। वो लड़का सायकल से उतरा और गेट के उस तरफ खड़ा होकर कहने लगा "मैं बाहर नहीं आ सकता, बताइये क्या काम हैं?" गौतम ने सड़क के इस तरफ से उस लड़के से सवाल किया
"क्यों बाहर क्यों नहीं आ सकते?" उस लड़के ने मुस्कुराते हुए कहा
"स्कूल से बाहर नहीं निकलते, और वैसे भी अभी गेम्स का पीरियड चल रहा है, मुझे खेलने दीजिए"

गौतम ने अपने कोट से एक चॉक्लेट निकाली और कहा
"इधर आओगे तो तुम्हें चॉकलेट मिलेगी" उस लड़के की आखों में थोड़ा डर बैठ गया। उसने गौतम को देखा जहां शायद उसे गौतम की आँखों में डर नज़र आया। उस लड़के ने मुस्कुराते हुए कहा
"मेरे पास इससे बड़ी चॉक्लेट हैं" वो लड़का लौट के वापस जाने लगा। फिर कुछ कदम दूर ही रुकते हुए वो पीछे मुड़ा और उसने कहा
"आप इधर आओगे तो आपको भी चॉक्लेट मिलेगी" इतना कहकर वो हँसने लगा। उस लड़के ने वापस सायकल उठाई और ग्राउंड के गोल गोल चक्कर काटने लगा। उसने सायकल चलाते हुए गौतम को देखा तो अचानक वो लड़का, डगमगाती साइकल संभालने की कोशिश में गिर गया। उठा और खुद के कपड़े झाड़े और वापस गेट पर आया और गौतम से उसने गुस्से से बोला
"क्या है आपको! आपकी वजह से मैं गिर गया। अगर आपको अंदर आना है तो आइए नहीं आना है मत आइये। लेकिन एक ही जगह खड़े मत रहिए, उससे कुछ भी भला नहीं होगा आपका" गौतम ने सवाल किया
"अंदर आऊँ? या ना आऊँ?" उस लड़के ने दाहिनी हथेली को अपने माथे पर रखा और कहा
"अंदर आने न आने का फैसला आपका है।" गौतम ने आवाज़ बढ़ा कर कहा
"अरे! तुम्हारा नाम क्या है?" उस लड़के ने मुस्कुरा कर जवाब दिया
"खुद का नाम भी कोई पूछता है क्या!" तभी गौतम के सामने से एक गाड़ी गुज़री। स्कूल के गेट के उस तरफ कोई भी नहीं था। #kahani #storytelling #storytime #kahanikar #themodernpoets #tmpian #writerscommunity #writersofindia #writersofinstagram #writersofig

जहाँ कुछ ही दूर पर यादें खड़ी होती है जिनका दरवाज़ा अधखुला होता है, जो पास बुलाती भी है और नहीं भी वहाँ जाने और ना जाने का फैसला हमारा होता है। "गेट के उस तरफ जाऊ न जाऊ!"
गौतम अपने स्कूल के बाहर खड़े होकर इसी असमंजस में है। और होता भी कैसे नहीं पूरे 15 साल बाद वो अपना स्कूल देख रहा था, वहीं स्कूल जहाँ गौतम साईकल से जाया करता था और आज अपनी नई चमचमाती गाड़ी में है। वो जब भी गेट से अंदर की तरफ देख रहा था उसे एक लड़का स्कूल ग्राउंड में सायकल से गोल गोल चक्कर लगाता दिखाई दे रहा था। गौतम ने उस लड़के को इशारा करते हुए अपनी ओर बुलाया। वो लड़का सायकल से उतरा और गेट के उस तरफ खड़ा होकर कहने लगा "मैं बाहर नहीं आ सकता, बताइये क्या काम हैं?" गौतम ने सड़क के इस तरफ से उस लड़के से सवाल किया
"क्यों बाहर क्यों नहीं आ सकते?" उस लड़के ने मुस्कुराते हुए कहा
"स्कूल से बाहर नहीं निकलते, और वैसे भी अभी गेम्स का पीरियड चल रहा है, मुझे खेलने दीजिए"

गौतम ने अपने कोट से एक चॉक्लेट निकाली और कहा
"इधर आओगे तो तुम्हें चॉकलेट मिलेगी" उस लड़के की आखों में थोड़ा डर बैठ गया। उसने गौतम को देखा जहां शायद उसे गौतम की आँखों में डर नज़र आया। उस लड़के ने मुस्कुराते हुए कहा
"मेरे पास इससे बड़ी चॉक्लेट हैं" वो लड़का लौट के वापस जाने लगा। फिर कुछ कदम दूर ही रुकते हुए वो पीछे मुड़ा और उसने कहा
"आप इधर आओगे तो आपको भी चॉक्लेट मिलेगी" इतना कहकर वो हँसने लगा। उस लड़के ने वापस सायकल उठाई और ग्राउंड के गोल गोल चक्कर काटने लगा। उसने सायकल चलाते हुए गौतम को देखा तो अचानक वो लड़का, डगमगाती साइकल संभालने की कोशिश में गिर गया। उठा और खुद के कपड़े झाड़े और वापस गेट पर आया और गौतम से उसने गुस्से से बोला
"क्या है आपको! आपकी वजह से मैं गिर गया। अगर आपको अंदर आना है तो आइए नहीं आना है मत आइये। लेकिन एक ही जगह खड़े मत रहिए, उससे कुछ भी भला नहीं होगा आपका" गौतम ने सवाल किया
"अंदर आऊँ? या ना आऊँ?" उस लड़के ने दाहिनी हथेली को अपने माथे पर रखा और कहा
"अंदर आने न आने का फैसला आपका है।" गौतम ने आवाज़ बढ़ा कर कहा
"अरे! तुम्हारा नाम क्या है?" उस लड़के ने मुस्कुरा कर जवाब दिया
"खुद का नाम भी कोई पूछता है क्या!" तभी गौतम के सामने से एक गाड़ी गुज़री। स्कूल के गेट के उस तरफ कोई भी नहीं था। #kahani #storytelling #storytime #kahanikar #themodernpoets #tmpian #writerscommunity #writersofindia #writersofinstagram #writersofig
57 24 1 November, 2019

∎अमृता प्रीतम पुण्यतिथि विशेष∎

आज सूरज ने कुछ घबरा कर
रोशनी की एक खिड़की खोली
बादल की एक खिड़की बंद की
और अंधेरे की सीढियां उतर गया… आसमान की भवों पर
जाने क्यों पसीना आ गया
सितारों के बटन खोल कर
उसने चांद का कुर्ता उतार दिया… मैं दिल के एक कोने में बैठी हूं
तुम्हारी याद इस तरह आयी
जैसे गीली लकड़ी में से
गहरा और काला धूंआ उठता है… साथ हजारों ख्याल आये
जैसे कोई सूखी लकड़ी
सुर्ख आग की आहें भरे,
दोनों लकड़ियां अभी बुझाई हैं वर्ष कोयले की तरह बिखरे हुए
कुछ बुझ गये, कुछ बुझने से रह गये
वक्त का हाथ जब समेटने लगा
पोरों पर छाले पड़ गये… तेरे इश्क के हाथ से छूट गयी
और जिन्दगी की हन्डिया टूट गयी
इतिहास का मेहमान
मेरे चौके से भूखा उठ गया… #poetry #love #poetrycommunity #writersofinstagram #poem #poet #poems #quotes #poetsofinstagram #writer #writing #art #lovequotes #wordporn #thoughts #quote #quoteoftheday #writersofig #words #shayari #life #writerscommunity #instagram #inspirationalquotes #poetryofinstagram #themodernpoets #amritapritam #tmp

∎अमृता प्रीतम पुण्यतिथि विशेष∎

आज सूरज ने कुछ घबरा कर
रोशनी की एक खिड़की खोली
बादल की एक खिड़की बंद की
और अंधेरे की सीढियां उतर गया… आसमान की भवों पर
जाने क्यों पसीना आ गया
सितारों के बटन खोल कर
उसने चांद का कुर्ता उतार दिया… मैं दिल के एक कोने में बैठी हूं
तुम्हारी याद इस तरह आयी
जैसे गीली लकड़ी में से
गहरा और काला धूंआ उठता है… साथ हजारों ख्याल आये
जैसे कोई सूखी लकड़ी
सुर्ख आग की आहें भरे,
दोनों लकड़ियां अभी बुझाई हैं वर्ष कोयले की तरह बिखरे हुए
कुछ बुझ गये, कुछ बुझने से रह गये
वक्त का हाथ जब समेटने लगा
पोरों पर छाले पड़ गये… तेरे इश्क के हाथ से छूट गयी
और जिन्दगी की हन्डिया टूट गयी
इतिहास का मेहमान
मेरे चौके से भूखा उठ गया… #poetry #love #poetrycommunity #writersofinstagram #poem #poet #poems #quotes #poetsofinstagram #writer #writing #art #lovequotes #wordporn #thoughts #quote #quoteoftheday #writersofig #words #shayari #life #writerscommunity #instagram #inspirationalquotes #poetryofinstagram #themodernpoets #amritapritam #tmp
28 0 31 October, 2019

∎अमृता प्रीतम पुण्यतिथि विशेष∎

नीले आसमान के कोने में
रात-मिल का साइरन बोलता है
चाँद की चिमनी में से
सफ़ेद गाढ़ा धुआँ उठता है

सपने — जैसे कई भट्टियाँ हैं
हर भट्टी में आग झोंकता हुआ
मेरा इश्क़ मज़दूरी करता है

तेरा मिलना ऐसे होता है
जैसे कोई हथेली पर
एक वक़्त की रोजी रख दे। जो ख़ाली हँडिया भरता है
राँध-पकाकर अन्न परसकर
वही हाँडी उलटा रखता है

बची आँच पर हाथ सेकता है
घड़ी पहर को सुस्ता लेता है
और खुदा का शुक्र मनाता है। रात-मिल का साइरन बोलता है
चाँद की चिमनी में से
धुआँ इस उम्मीद पर निकलता है

जो कमाना है वही खाना है
न कोई टुकड़ा कल का बचा है
न कोई टुकड़ा कल के लिए है... #poetry #love #poetrycommunity #writersofinstagram #poem #poet #poems #quotes #poetsofinstagram #writer #writing #art #lovequotes #wordporn #thoughts #quote #quoteoftheday #writersofig #words #shayari #life #writerscommunity #instagram #inspirationalquotes #poetryofinstagram #themodernpoets #Amritapritam #tmp

∎अमृता प्रीतम पुण्यतिथि विशेष∎

नीले आसमान के कोने में
रात-मिल का साइरन बोलता है
चाँद की चिमनी में से
सफ़ेद गाढ़ा धुआँ उठता है

सपने — जैसे कई भट्टियाँ हैं
हर भट्टी में आग झोंकता हुआ
मेरा इश्क़ मज़दूरी करता है

तेरा मिलना ऐसे होता है
जैसे कोई हथेली पर
एक वक़्त की रोजी रख दे। जो ख़ाली हँडिया भरता है
राँध-पकाकर अन्न परसकर
वही हाँडी उलटा रखता है

बची आँच पर हाथ सेकता है
घड़ी पहर को सुस्ता लेता है
और खुदा का शुक्र मनाता है। रात-मिल का साइरन बोलता है
चाँद की चिमनी में से
धुआँ इस उम्मीद पर निकलता है

जो कमाना है वही खाना है
न कोई टुकड़ा कल का बचा है
न कोई टुकड़ा कल के लिए है... #poetry #love #poetrycommunity #writersofinstagram #poem #poet #poems #quotes #poetsofinstagram #writer #writing #art #lovequotes #wordporn #thoughts #quote #quoteoftheday #writersofig #words #shayari #life #writerscommunity #instagram #inspirationalquotes #poetryofinstagram #themodernpoets #Amritapritam #tmp
34 0 31 October, 2019

∎अमृता प्रीतम पुण्यतिथि विशेष ∎

आज मैंने
अपने घर का नम्बर मिटाया है
और गली के माथे पर लगा
गली का नाम हटाया है
और हर सड़क की
दिशा का नाम पोंछ दिया है
पर अगर आपको मुझे ज़रूर पाना है
तो हर देश के, हर शहर की,
हर गली का द्वार खटखटाओ
यह एक शाप है, यह एक वर है
और जहाँ भी
आज़ाद रूह की झलक पड़े
— समझना वह मेरा घर है। #poetry #love #poetrycommunity #writersofinstagram #poem #poet #poems #quotes #poetsofinstagram #writer #writing #art #lovequotes #wordporn #thoughts #quote #quoteoftheday #writersofig #words #shayari #life #writerscommunity #instagram #inspirationalquotes #poetryofinstagram #themodernpoets #tmp

∎अमृता प्रीतम पुण्यतिथि विशेष ∎

आज मैंने
अपने घर का नम्बर मिटाया है
और गली के माथे पर लगा
गली का नाम हटाया है
और हर सड़क की
दिशा का नाम पोंछ दिया है
पर अगर आपको मुझे ज़रूर पाना है
तो हर देश के, हर शहर की,
हर गली का द्वार खटखटाओ
यह एक शाप है, यह एक वर है
और जहाँ भी
आज़ाद रूह की झलक पड़े
— समझना वह मेरा घर है। #poetry #love #poetrycommunity #writersofinstagram #poem #poet #poems #quotes #poetsofinstagram #writer #writing #art #lovequotes #wordporn #thoughts #quote #quoteoftheday #writersofig #words #shayari #life #writerscommunity #instagram #inspirationalquotes #poetryofinstagram #themodernpoets #tmp
85 3 31 October, 2019

∎अमृता प्रीतम पुण्यतिथि पर विशेष∎

अमृता प्रीतम का नाम सुनते ही, अमृता साहिर व इमरोज़ की प्रेम कहानी तुरंत सामने आ जाती है। लेकिन अमृता इन सब से कहीं आगे एक ऐसी शख्शियत थीं जिन्होंने त्याग,दुःख,पीड़ा,इश्क बहुत ही नज़दीक से महसूस किया है। कहा जाता है जिस जमाने में पंजाब पहलवानी और जिहालत से जूझ रहा था उस वक़्त अमृता ने लड़कियों को पंख खोल कर आसमान में उड़ने का हौसला दिया। एक सच्चा इंसान ही एक सच्चा लेखक हो सकता है और इस वाक्य को सार्थक करती है अमृता की लेखनी। आप अमृता को जितना पढेंगे उतना ही ज्यादा अमृता के सोच और साहित्य की गहराई में समातें जायेंगे। अमृता ने अपनी जिंदगी में मौत को बहुत करीब से देखा था और उन्हें मौत भी बेहद आरामदायक मिली थी शायद। 31 अक्टूबर 2005 को अमृता नींद में ही चल बसी थीं.लेकिन उनके मौत के बाद दिल्ली के जिस घर में रहतीं थी उस घर को बेच दिया गया वो हमेशा अपने घर में एक लाइब्रेरी और म्यूजियम बनाना चाहतीं थीं जहां उनकी किताबें और उनसे जुडी वस्तुएं रखीं जा सकें। आज उनकी चौदवीं पुण्यतिथि पर समस्त TMP परिवार उन्हें नमन करता है। #poetry #love #poetrycommunity #writersofinstagram #poem #poet #poems #quotes #poetsofinstagram #writer #writing #art #lovequotes #wordporn #thoughts #quote #quoteoftheday #writersofig #words #shayari #life #writerscommunity #instagram #inspirationalquotes #poetryofinstagram #themodernpoets #tmp #amritapritam

∎अमृता प्रीतम पुण्यतिथि पर विशेष∎

अमृता प्रीतम का नाम सुनते ही, अमृता साहिर व इमरोज़ की प्रेम कहानी तुरंत सामने आ जाती है। लेकिन अमृता इन सब से कहीं आगे एक ऐसी शख्शियत थीं जिन्होंने त्याग,दुःख,पीड़ा,इश्क बहुत ही नज़दीक से महसूस किया है। कहा जाता है जिस जमाने में पंजाब पहलवानी और जिहालत से जूझ रहा था उस वक़्त अमृता ने लड़कियों को पंख खोल कर आसमान में उड़ने का हौसला दिया। एक सच्चा इंसान ही एक सच्चा लेखक हो सकता है और इस वाक्य को सार्थक करती है अमृता की लेखनी। आप अमृता को जितना पढेंगे उतना ही ज्यादा अमृता के सोच और साहित्य की गहराई में समातें जायेंगे। अमृता ने अपनी जिंदगी में मौत को बहुत करीब से देखा था और उन्हें मौत भी बेहद आरामदायक मिली थी शायद। 31 अक्टूबर 2005 को अमृता नींद में ही चल बसी थीं.लेकिन उनके मौत के बाद दिल्ली के जिस घर में रहतीं थी उस घर को बेच दिया गया वो हमेशा अपने घर में एक लाइब्रेरी और म्यूजियम बनाना चाहतीं थीं जहां उनकी किताबें और उनसे जुडी वस्तुएं रखीं जा सकें। आज उनकी चौदवीं पुण्यतिथि पर समस्त TMP परिवार उन्हें नमन करता है। #poetry #love #poetrycommunity #writersofinstagram #poem #poet #poems #quotes #poetsofinstagram #writer #writing #art #lovequotes #wordporn #thoughts #quote #quoteoftheday #writersofig #words #shayari #life #writerscommunity #instagram #inspirationalquotes #poetryofinstagram #themodernpoets #tmp #amritapritam
28 0 31 October, 2019

मैं समंदर किनारे पे बैठा हुआ हूँ
यहीं आरज़ू है
कि ठहर जाए, लहर वो
जो मिरे पैरों को छूने
चली आ रही है

एक यहीं मसला ओ शिकायत के चलते
मैं बैठा हुआ हूँ समुंदर किनारे
कि सब मुझ तक पहुँच कर
चले जाते है जैसे
आए ही न हो! न छुआ हो
कहा हो ,
न बना हो एक रिश्ता

मैं हर एक लहर को
जो मुझतक है आती
इल्तिजा कर रहा हूँ
'कि रुक जाओ कुछ देर बैठो ज़रा
आए क्यों हो! या आते ही न तुम यहाँ" फिर किया खुद ही से एक ये फ़ैसला
मैं साहिल पे बैठा समंदर बना
अब एक जुस्तजू जिसे ढूंढता फिर रहा
वो आती थी जो मेरे कदमों पे लहर
वो लहर है कहाँ
वो लहर है कहाँ © Anshul Joshi | TMP

#poem #poetry #poetryoftheday #themodernpoets #themodernpoets7 #tmp

मैं समंदर किनारे पे बैठा हुआ हूँ
यहीं आरज़ू है
कि ठहर जाए, लहर वो
जो मिरे पैरों को छूने 
चली आ रही है

एक यहीं मसला ओ शिकायत के चलते
मैं बैठा हुआ हूँ समुंदर किनारे
कि सब मुझ तक पहुँच कर
चले जाते है जैसे 
आए ही न हो! न छुआ हो 
कहा हो ,
न बना हो एक रिश्ता

मैं हर एक लहर को
जो मुझतक है आती
इल्तिजा कर रहा हूँ
'कि रुक जाओ कुछ देर बैठो ज़रा
आए क्यों हो! या आते ही न तुम यहाँ" फिर किया खुद ही से एक ये फ़ैसला
मैं साहिल पे बैठा समंदर बना
अब एक जुस्तजू जिसे ढूंढता फिर रहा
वो आती थी जो मेरे कदमों पे लहर
वो लहर है कहाँ
वो लहर है कहाँ © Anshul Joshi | TMP

#poem #poetry #poetryoftheday #themodernpoets #themodernpoets7 #tmp
37 0 30 October, 2019

बता ऐ अब्र मुसावात क्यूँ नहीं करता
हमारे गाँव में बरसात क्यूँ नहीं करता
महाज़-ए-इश्क़ से कब कौन बच के निकला है
तू बच गया है तो ख़ैरात क्यूँ नहीं करता
वो जिस की छाँव में पच्चीस साल गुज़रे हैं वो पेड़ मुझ से कोई बात क्यूँ नहीं करता
मैं जिस के साथ कई दिन गुज़ार आया हूँ वो मेरे साथ बसर रात क्यूँ नहीं करता
मुझे तू जान से बढ़ कर अज़ीज़ हो गया है
तो मेरे साथ कोई हाथ क्यूँ नहीं करता
Tehzeeb Haafi <3
#sher #shayari #poetry #urdu #love #urdupoetry #hindi #kavita #rekhta #instagram #poetrycommunity #gujju #shayar #surat #hindipoetry #lovequotes #gujjuboy #comedy #ghazal #johannesburg #ahemadabad #suratthani #jigneshdada #mahesa #themodernpoets #tmp

बता ऐ अब्र मुसावात क्यूँ नहीं करता 
हमारे गाँव में बरसात क्यूँ नहीं करता 
महाज़-ए-इश्क़ से कब कौन बच के निकला है 
तू बच गया है तो ख़ैरात क्यूँ नहीं करता 
वो जिस की छाँव में पच्चीस साल गुज़रे हैं वो पेड़ मुझ से कोई बात क्यूँ नहीं करता 
मैं जिस के साथ कई दिन गुज़ार आया हूँ वो मेरे साथ बसर रात क्यूँ नहीं करता 
मुझे तू जान से बढ़ कर अज़ीज़ हो गया है 
तो मेरे साथ कोई हाथ क्यूँ नहीं करता 
Tehzeeb Haafi <3 
#sher #shayari #poetry #urdu #love #urdupoetry #hindi #kavita #rekhta #instagram #poetrycommunity #gujju #shayar #surat #hindipoetry #lovequotes #gujjuboy #comedy #ghazal #johannesburg #ahemadabad #suratthani #jigneshdada #mahesa #themodernpoets #tmp
80 2 30 October, 2019

#19

प्यारी मीना, आशा करता हूँ कि तुम वहाँ ठीक होगी, बाढ़ का असर भी कम हो गया होगा, मैंने DM को चिट्ठी लिखी है वो गाँव मे बाढ़ से पीड़ितों के लिए कुछ न कुछ बन्दोबस्त करेंगे। सब ठीक हो जाएगा जल्द ही
माफ़ करना मैं फोन नहीं कर पा रहा यहाँ तवांग में नेटवर्क का थोड़ा प्रॉब्लम रहता है तो मैंने सोचा क्यूँ न हम पुराने तरीके से बात करें, जैसे जब मेरी नई पोस्टिंग हुई थी तब तुम्हें चिट्ठी भेजा करता था वैसे ही। पता है चिट्ठी में सिर्फ़ सन्देश नहीं खुशबू भी होती थी तुम्हारी, तुम जानबूझ कर सेंट डालती थी न ताकि मुझे एहसास हो कि तुम यहीं हो मेरे पास ।

अच्छा सुनो ज़रूरी बात, यहाँ का माहौल सही नहीं है चीन की सेना धीरे धीरे अंदर आने के प्रयास में लगी है न जाने कितने सैनिक रोज़ शहीद हो रहें हैं यहाँ लेकिन ये सरकार इस बात को कभी बाहर नहीं आने देती है, न ही आने देगी क्योंकि इससे इनके वैश्विक व्यवसायिक रिश्ते खराब होंगे। ये ख़त मैं इसी लिए लिख रहा हूँ, कि कल को न जाने मुझे क्या हो जाये, और तुम्हे ख़बर भी न मिले

मैंने एक फिक्स्ड डिपाजिट में तुम्हारे लिए पैसे जोड़ें हैं वो बुरे वक़्त में काम आएंगे ।

हमारी बिटिया और दोनों बेटों को ख़ूब पढाना और कम से कम तीनों में से किसी एक को फौज में ज़रूर भेजना ।
ये साड़ी तुम्हारे लिये है और नये कपड़े बच्चों के लिए दिवाली का तोहफ़ा है।
अच्छा चलो मैं बस करता हूँ अपना ख़्याल रखना और तुम्हारे हाथ के लिट्टी चोखे का इंतज़ार रहेगा ।

तुम्हारा AK

ये ख़त मीना पढ़ती जा रही थी और उसके आंखों से आँसू रुक नहीं रहे थे, सामने साड़ी और नये कपड़े थे और
मीना के सामने डिब्बे में छत विछत Master Warrant Officer AK Singh की लाश थी
जो कि अरुणाचल प्रदेश में mi 17 v5 हेलीकॉप्टर के क्रैश में अपने अन्य 7 साथियों के साथ शहीद हो गए थे। आज एक और मांग सूनी हुई थी और एक घर में दिवाली वाले दिन दिए काली रोशनी फेंक रहे थे। ©मोहित द्विवेदी
#ख़तनामा #मोहित #themodernpoets #letter #martyr #indianairforce #indianarmy #peace

#19

प्यारी मीना, आशा करता हूँ कि तुम वहाँ ठीक होगी, बाढ़ का असर भी कम हो गया होगा, मैंने DM को चिट्ठी लिखी है वो गाँव मे बाढ़ से पीड़ितों के लिए कुछ न कुछ बन्दोबस्त करेंगे। सब ठीक हो जाएगा जल्द ही 
माफ़ करना मैं फोन नहीं कर पा रहा यहाँ तवांग में नेटवर्क का थोड़ा प्रॉब्लम रहता है तो मैंने सोचा क्यूँ न हम पुराने तरीके से बात करें, जैसे जब मेरी नई पोस्टिंग हुई थी तब तुम्हें चिट्ठी भेजा करता था वैसे ही। पता है चिट्ठी में सिर्फ़ सन्देश नहीं खुशबू भी होती थी तुम्हारी, तुम जानबूझ कर सेंट डालती थी न ताकि मुझे एहसास हो कि तुम यहीं हो मेरे पास ।

अच्छा सुनो ज़रूरी बात, यहाँ का माहौल सही नहीं है चीन की सेना  धीरे धीरे अंदर आने के प्रयास में लगी है न जाने कितने सैनिक रोज़ शहीद हो रहें हैं यहाँ लेकिन ये सरकार इस बात को कभी बाहर नहीं आने देती है, न ही आने देगी क्योंकि इससे इनके वैश्विक व्यवसायिक  रिश्ते खराब होंगे। ये ख़त मैं इसी लिए लिख रहा हूँ, कि कल को न जाने मुझे क्या हो जाये, और तुम्हे ख़बर भी न मिले

मैंने एक फिक्स्ड डिपाजिट में तुम्हारे लिए पैसे जोड़ें हैं वो बुरे वक़्त में काम आएंगे ।

हमारी बिटिया और दोनों बेटों को ख़ूब पढाना और कम से कम तीनों में से किसी एक को फौज में ज़रूर भेजना । 
ये साड़ी तुम्हारे लिये है और नये कपड़े बच्चों के लिए दिवाली का तोहफ़ा है।
अच्छा चलो मैं बस करता हूँ अपना ख़्याल रखना और तुम्हारे हाथ के लिट्टी चोखे का इंतज़ार रहेगा ।

तुम्हारा  AK

ये ख़त मीना पढ़ती जा रही थी और उसके आंखों से आँसू रुक नहीं रहे थे, सामने साड़ी और नये कपड़े थे और 
मीना के सामने डिब्बे में छत विछत Master Warrant Officer AK Singh की लाश थी 
जो कि अरुणाचल प्रदेश में mi 17 v5 हेलीकॉप्टर के क्रैश में अपने अन्य 7 साथियों के साथ शहीद हो गए थे। आज एक और मांग सूनी हुई थी और एक घर में दिवाली वाले दिन दिए काली रोशनी फेंक रहे थे। ©मोहित द्विवेदी 
#ख़तनामा #मोहित #themodernpoets #letter #martyr #indianairforce #indianarmy #peace
35 9 28 October, 2019

ये रहा हमारा नया कार्यक्रम कथाकार 4.0
आप भी अगर होना चाहतें है शरीक तो पंजीकरण करें लिंक बायो में है
#themodernpoets #storytelling #kahani #kathakaar #kahaniyan

ये रहा हमारा नया कार्यक्रम कथाकार 4.0 
आप भी अगर होना चाहतें है शरीक तो पंजीकरण करें लिंक बायो में है 
#themodernpoets #storytelling #kahani #kathakaar #kahaniyan
25 0 28 October, 2019

बिखर गए हैं सितारे बन के
उस एक सूरज के कितने टुकड़े हर इक टुकड़ा अलग जहाँ है
सरहद के बंधन में आसमाँ है
ज़मीन का तो वजूद क्या है
हर इक कुन पे ख़ुदा लिखा है
हर इक ख़ुदा का है अपना शजरा
हर इक शजरे की अपनी दुनिया
हर इक दुनिया के अपने हिस्से
हर इक हिस्से के अपने रिश्ते
हर इक रिश्ते में सौ दीवारें हर एक दीवार में दरारें दरार में हैं नए जज़ीरे
हर इक जज़ीरे के अपने विर्से
हर इक विर्से के ग़म अपने अपने
हर इक अपने के क़िस्से अपने
महल जो तहज़ीब-ओ-इर्तिक़ा के माज़ी पे बन रहे हैं है उन की बुनियाद कितनी गहरी मैं उन की गहराई जानता हूँ Ashok Lal | The Modern Poets

#nazm #poet #poetry #poetrymaykhana #poetrymaykhana #poetryoftheday #hindi #kavita #themodernpoets #themodernpoets7

बिखर गए हैं सितारे बन के 
उस एक सूरज के कितने टुकड़े हर इक टुकड़ा अलग जहाँ है 
सरहद के बंधन में आसमाँ है 
ज़मीन का तो वजूद क्या है 
हर इक कुन पे ख़ुदा लिखा है 
हर इक ख़ुदा का है अपना शजरा 
हर इक शजरे की अपनी दुनिया 
हर इक दुनिया के अपने हिस्से 
हर इक हिस्से के अपने रिश्ते 
हर इक रिश्ते में सौ दीवारें हर एक दीवार में दरारें दरार में हैं नए जज़ीरे 
हर इक जज़ीरे के अपने विर्से 
हर इक विर्से के ग़म अपने अपने 
हर इक अपने के क़िस्से अपने 
महल जो तहज़ीब-ओ-इर्तिक़ा के माज़ी पे बन रहे हैं है उन की बुनियाद कितनी गहरी मैं उन की गहराई जानता हूँ Ashok Lal | The Modern Poets

#nazm #poet #poetry #poetrymaykhana #poetrymaykhana #poetryoftheday #hindi #kavita #themodernpoets #themodernpoets7
46 1 26 October, 2019
साहिर 💞💞
#themodernpoets #tmpian #tmp #poets #shayar #sahir #sher
66 0 25 October, 2019

साहिर लुधयानवी साहब की पुण्यतिथि पर उन्हें नमन

#themodernpoets #tmp #sahir #shayar #shayari #poetrymaykhana

साहिर लुधयानवी साहब की पुण्यतिथि पर उन्हें नमन

#themodernpoets #tmp #sahir #shayar #shayari #poetrymaykhana
50 1 25 October, 2019

Top #themodernpoets posts

मैंने पूछा चाँद से के देखा है कहीं, मेरे यार सा हसीं
चाँद ने कहा, चाँदनी की कसम, नहीं, नहीं, नहीं Happy Diwali ! Lots of love and best wishes to all of you and your family❤️

मैंने पूछा चाँद से के देखा है कहीं, मेरे यार सा हसीं
चाँद ने कहा, चाँदनी की कसम, नहीं, नहीं, नहीं Happy Diwali ! Lots of love and best wishes to all of you and your family❤️
102 16 7 November, 2018

21st July
I'm so grateful for your love and blessings ❤️ TMP family I love you guys😘 Mohit, Anshul, Harshit, Aditya thankyou thankyou thankyou ❤️ for making me part of the family.

Dil se Shukriya 😘 sach batau tum sabse shayad mai itni baatein na karti hu milti na hu lekin tum sabke liye bahut respect aur pyar hai dil me. Mere khas din ko aur khas aur khoobsoorat bnane ke liye shukriya ❤️

21st July 
I'm so grateful for your love and blessings ❤️ TMP family I love you guys😘 Mohit, Anshul, Harshit, Aditya  thankyou thankyou thankyou ❤️ for making me part of the family.

Dil se Shukriya 😘 sach batau tum sabse shayad mai itni baatein na karti hu milti na hu lekin tum sabke liye bahut respect aur pyar hai dil me. Mere khas din ko aur khas aur khoobsoorat bnane ke liye shukriya ❤️
100 14 23 July, 2019

बता ऐ अब्र मुसावात क्यूँ नहीं करता
हमारे गाँव में बरसात क्यूँ नहीं करता
महाज़-ए-इश्क़ से कब कौन बच के निकला है
तू बच गया है तो ख़ैरात क्यूँ नहीं करता
वो जिस की छाँव में पच्चीस साल गुज़रे हैं वो पेड़ मुझ से कोई बात क्यूँ नहीं करता
मैं जिस के साथ कई दिन गुज़ार आया हूँ वो मेरे साथ बसर रात क्यूँ नहीं करता
मुझे तू जान से बढ़ कर अज़ीज़ हो गया है
तो मेरे साथ कोई हाथ क्यूँ नहीं करता
Tehzeeb Haafi <3
#sher #shayari #poetry #urdu #love #urdupoetry #hindi #kavita #rekhta #instagram #poetrycommunity #gujju #shayar #surat #hindipoetry #lovequotes #gujjuboy #comedy #ghazal #johannesburg #ahemadabad #suratthani #jigneshdada #mahesa #themodernpoets #tmp

बता ऐ अब्र मुसावात क्यूँ नहीं करता 
हमारे गाँव में बरसात क्यूँ नहीं करता 
महाज़-ए-इश्क़ से कब कौन बच के निकला है 
तू बच गया है तो ख़ैरात क्यूँ नहीं करता 
वो जिस की छाँव में पच्चीस साल गुज़रे हैं वो पेड़ मुझ से कोई बात क्यूँ नहीं करता 
मैं जिस के साथ कई दिन गुज़ार आया हूँ वो मेरे साथ बसर रात क्यूँ नहीं करता 
मुझे तू जान से बढ़ कर अज़ीज़ हो गया है 
तो मेरे साथ कोई हाथ क्यूँ नहीं करता 
Tehzeeb Haafi <3 
#sher #shayari #poetry #urdu #love #urdupoetry #hindi #kavita #rekhta #instagram #poetrycommunity #gujju #shayar #surat #hindipoetry #lovequotes #gujjuboy #comedy #ghazal #johannesburg #ahemadabad #suratthani #jigneshdada #mahesa #themodernpoets #tmp
80 2 30 October, 2019

©निदा फ़ाज़ली ❤️
#maa #mother #child #poetry #sher #nazm #kavita #themodernpoets #twoliners #tmp

©निदा फ़ाज़ली ❤️
#maa #mother #child #poetry #sher #nazm #kavita #themodernpoets #twoliners #tmp
70 1 27 September, 2019

ग़ज़ल/غزل

इंसानों की बस्ती में इक मोर सदायें देता है
उस जंगल में आग लगी, जो जंगल सांसें देता है
انسانوں کی بستی میں اک مور صدائیں دیتا ہے
اس جنگل میں آگ لگی جو جنگل سانسیں دیتا ہے

पढ़ने लिखने वाला लड़का, पढ़ी लिखी महबूबा को
मिलता है तो फूल नहीं देता है, किताबें देता है
پڑھنے لکھنے والا لڑکا پڑھی لکھی محبوبہ کو
ملتا ہے تو پھول نہیں دیتا ہے کتابیں دیتا ہے

देने वाला भी कैसा इंसाफ़ पसंद है क्या कहिये
उतनी वबायें भेजता है, जितनी औलादें देता है
دینے والا بھی کیسا انصاف پسند ہے کیا کہیے
اتنی وبائیں بھیجتا ہے، جتنی اولادیں دیتا ہے

सारा शहर लहू मंज़र है, सारे लोग लहू पैकर
और ऐसे में तू हमको जीने की दुआएं देता है
سارا شہر لہو منظر ہے، سارے لوگ لہو پیکر
اور ایسے میں تو ہم کو جینے کی دعائیں دیتا ہے

तू भी शायद हाकिम ए वक़्त की तर'ह मुझसे मुख्लिस है
जितनी सुबहें मांगता हूँ, उतनी ही रातें देता है
تو بھی شاید حاکم وقت کی طرح مجھ سے مخلص ہے
جتنی صبحیں مانگتا ہوں، اتنی ہی راتیں دیتا ہے

सरहद और मज़हब से मुझको इसलिए इतनी उलझन है
जिसको मौक़ा मिलता है, मेरे इश्क़ में टांगें देता है
سرحد اور مذہب سے مجھ کو اس لیے اتنی الجھن ہے
جس کو موقع ملتا ہے، مرے عشق میں ٹانگیں دیتا ہے

देखो अबकी बार मोहब्बत में महबूब हवाओं का
कितनी तन्हाई देता है, कितनी बाहें देता है
دیکھو اب کی بار محبت میں محبوب ہوائوں کا
کتنی تنہائی دیتا ہے، کتنی بانہیں دیتا ہے
*** © तसनीफ़ हैदर | The Modern Poets
#ghazal #sher #shayaricollection #shayari #tmp #themodernpoets

ग़ज़ल/غزل

इंसानों की बस्ती में इक मोर सदायें देता है 
उस जंगल में आग लगी, जो जंगल सांसें देता है 
انسانوں کی بستی میں اک مور صدائیں دیتا ہے
اس جنگل میں آگ لگی جو جنگل سانسیں دیتا ہے

पढ़ने लिखने वाला लड़का, पढ़ी लिखी महबूबा को 
मिलता है तो फूल नहीं देता है, किताबें देता है 
پڑھنے لکھنے والا لڑکا پڑھی لکھی محبوبہ کو
ملتا ہے تو پھول نہیں دیتا ہے کتابیں دیتا ہے

देने वाला भी कैसा इंसाफ़ पसंद है क्या कहिये 
उतनी वबायें भेजता  है, जितनी औलादें देता है 
دینے والا بھی کیسا انصاف پسند ہے کیا کہیے
اتنی وبائیں بھیجتا ہے، جتنی اولادیں دیتا ہے

सारा शहर लहू मंज़र है, सारे लोग लहू पैकर 
और ऐसे में तू हमको जीने की दुआएं देता है 
سارا شہر لہو منظر ہے، سارے لوگ لہو پیکر
اور ایسے میں تو ہم کو جینے کی دعائیں دیتا ہے

तू भी शायद हाकिम ए वक़्त की तर'ह मुझसे मुख्लिस है 
जितनी सुबहें मांगता हूँ, उतनी ही रातें देता है 
تو بھی شاید حاکم وقت کی طرح مجھ سے مخلص ہے
جتنی صبحیں مانگتا ہوں، اتنی ہی راتیں دیتا ہے

सरहद और मज़हब से मुझको इसलिए इतनी उलझन है 
जिसको मौक़ा मिलता है, मेरे इश्क़ में टांगें देता है 
سرحد اور مذہب سے مجھ کو اس لیے اتنی الجھن ہے
جس کو موقع ملتا ہے، مرے عشق میں ٹانگیں دیتا ہے

देखो अबकी बार मोहब्बत में महबूब हवाओं का 
कितनी तन्हाई देता है, कितनी बाहें देता है 
دیکھو اب کی بار محبت میں محبوب ہوائوں کا
کتنی تنہائی دیتا ہے، کتنی بانہیں دیتا ہے
*** © तसनीफ़ हैदर | The Modern Poets 
#ghazal #sher #shayaricollection  #shayari #tmp #themodernpoets
92 4 23 August, 2019

प्रश्न इतनी
उत्कटता से पूछना
कि उत्तर तुम तक
दौड़ा चला आये
नंगे पाँव
ध्यान रखना
उत्तर प्रश्नों के नहीं
प्यास के होते हैं।
©Rishabh Pathak
#themodernpoets #themodernpoets7 #tmp #tmpian #poetrymaykhana #poetry #poetsofig #poem #nazm #hindikavita #delhipoets

प्रश्न इतनी
उत्कटता से पूछना
कि उत्तर तुम तक
दौड़ा चला आये
नंगे पाँव
ध्यान रखना
उत्तर प्रश्नों के नहीं
प्यास के होते हैं।
©Rishabh Pathak
#themodernpoets #themodernpoets7 #tmp #tmpian #poetrymaykhana #poetry #poetsofig #poem #nazm #hindikavita #delhipoets
48 1 3 September, 2019